Coronavirus Updates: WHO की थ्योरी के खिलाफ अमेरिकी शोध का चौंकाने वाला दावा, हवा से भी फैल रहा है कोरोना वायरस!

विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार इस बात पर जार देता रहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से ही फैलता है, लेकिन 29 जून को एक अद्यतन रिपोर्ट में उसने कहा था कि वायरस वायुजनित तभी हो सकता है जब चिकित्सकीय प्रक्रिया के बाद ऐरोसॉल’ या ड्रॉपलेट’ पांच माइक्रोन से छोटे हो।

Coronavirus

239 Experts With One Big Claim: The Coronavirus Is Airborne

Coronavirus Updates: कोरोना वायरस (Coronavirus) के संबंध में एक बड़ा दावा करते हुए 32 देशों के 200 से अधिक वैज्ञानिकों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से कहा कि वायरस के वायुजनित होने के सबूत मौजूद हैं और एक छोटा कण भी लोगों को संक्रमित कर सकता है। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की स्वास्थ्य एजेंसी ने अभी तक खांसने और छींकने को ही कोरोना वायरस फैलने का मुख्य कारण बताया है।

भारत चीन विवाद: भारत की जिद के आगे झुका चीन, गलवान घाटी से अपने तंबू समेटकर वापस लौटी चीनी सेना

न्यूयार्क टाइम्स’ की एक रिपोर्ट के अनुसार लोगों के वापस बार, रेस्तरां, कार्यालयों, बाजार और कसिनो जाने से विश्वस्तर पर कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ रहे हैं। इसमें इस प्रवृत्ति की लगातार पुष्टि हुई है कि वायरस बंद जगहों पर ठहर जाता है और आसपास के लोगों को संक्रमित करता है।

रिपोर्ट में कहा गया, 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को लिखे एक खुले पत्र में लोगों को संक्रमित करने की छोटे कणों की भी क्षमता रेखांकित की और एजेंसी से अपने सुझावों में बदलाव करने की अपील की है। अनुसंधानकर्ता इसे अगले सप्ताह किसी वैज्ञानिक पत्रिका में प्रकाशित करने की योजना भी बना रहे हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार इस बात पर जार देता रहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से ही फैलता है, लेकिन 29 जून को एक अद्यतन रिपोर्ट में उसने कहा था कि वायरस (Covid-19) वायुजनित तभी हो सकता है जब चिकित्सकीय प्रक्रिया के बाद ऐरोसॉल’ या ड्रॉपलेट’ पांच माइक्रोन से छोटे हो। स्वास्थ्य एजेंसी ने मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाने और हाथ धोते रहने जैसे सुझाव दिए हैं। एनवायटी रिपोर्ट के अनुसार, यदि महामारी का वायुजनित होना एक महत्वपूर्ण कारक है, विशेष रूप से खराब वेंटिलेशन के साथ भीड़ वाले स्थानों में तो रोकथाम के लिए परिणाम महत्वपूर्ण होंगे।

यह भी पढ़ें