Coronavirus Updates: महामारी से लड़ रही दुनिया के लिए अच्छी खबर, इस कंपनी ने बना ली दवाई- कीमत महज 103 रुपये प्रति गोली

कोरोना की इस दवाई को डॉक्टर्स की सलाह से किसी भी कोरोना पॉजिटिव मरीज को दिया जा सकता है। ग्लेनमार्क कंपना सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी। जिससे देशभर में कोरोना मरीजों को यह दवाई आसानी से उपलब्ध की जा सके।

Coronavirus

Coronavirus, covid 19

कोरोना महामारी से लड़ रहे विश्व के तमाम देश इसके इलाज और दवा तैयार करने के लिए दिन रात एक किये हुये हैं। लेकिन कल तक दुनिया की कोई भी दवा कंपनी इसे प्रमाणित नहीं की थी, लेकिन आज ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोरोना (Coronavirus) के इलाज के लिए अपनी दवाई का दावा पेश किया है। इस दवा की कीमत महज 103 रुपये प्रति गोली है।

इस दवाई को डॉक्टर की सलाह से पहले दिन 1800 MG की दो गोली लेनी होगी। इसके बाद 14 दिन तक 800 MG की दो गोली लेनी होगी। इसके अलावा जिस मरीज को कोरोना (Coronavirus) के लक्षण हैं या किसी को डायबिटिज या हर्ट की प्रॉब्लम है ऐसे मरीजों के लिए भी ये दवा पूरी तरह सुरक्षित है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: विश्व को भारत की अनमोल भेंट, योग दिवस प्रेम-शांति और एकता का प्रतीक

दरअसल ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स कंपनी ने आधिकारित तौर पर एक बयान जारी करके अपनी दवाई के बारे में दुनिया को बताया।म जो कि, एक तरह की एंटीवायरल दवा है। हालांकि, यह कोरोना (Coronavirus) की चपेट में आये हुए मरीजों के लिए शुरुआती दिनों में ही कार्यगर साबित होगी यानि कि, जिन कोरोना पॉसिटिव मरीजों में कोविड-19 के हल्के-फुल्के और कम लक्षण पाए जा रहे हो। उन्हें यह दवाई दी जा सकती है और ऐसे मरीजों पर यह दवाई बहुत कारगर साबित होने वाली है।

गौरतलब है कि फैबिफ्लू कोविड-19 (Coronavirus) के इलाज के लिए खाने वाली पहली फेविपिराविर दवा है, जिसे भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) द्वारा मंजूरी मिली है। मुंबई की कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा के अनुसार, ‘हमें भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) द्वारा इस दवा के विनिर्माण और विपणन के लिए मंजूरी मिल गई और यह मंजूरी ऐसे समय मिली है जब भारत में कोरोना का केहर दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है।

भारत में कोरोना के मामले 3 लाख के पार पहुंच गए है और पहले की तुलना में यह मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इन मामलो के चलते हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दबाव में है।’

इसे डॉक्टर्स की सलाह से किसी भी कोरोना पॉजिटिव मरीज को दिया जा सकता है। ग्लेनमार्क कंपना सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी। जिससे देशभर में कोरोना मरीजों को यह दवाई आसानी से उपलब्ध की जा सके।

यह भी पढ़ें