कोरोना पर प्रहार के लिए देश तैयार, 22 मार्च को पूरे भारत में “जनता कर्फ्यू”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देशवासियों को कोरोना (Coronavirus) से मुकाबला करने के लिए रविवार 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि इस वैश्विक महामारी (Coronavirus) का संकट बड़ा है‚ जिससे देश को संकल्प और संयम से निपटना है। उन्होंने कहा कि उन्हें नागरिकों के कुछ हफ्ते चाहिए‚ जिसमें उन्हें भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचना है।

Narendra Modi

प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) ने कहा कि जनता कर्फ्यू के दौरान सभी को अपने घरों पर ही रहना है‚ क्योंकि बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग ही अधिक काम आएगी।

पढ़ें- दिल्ली गैंगरेप 2012: दोषियों के वकील का आखिरी दांव भी फेल, हो गई फांसी

प्रधानमंत्री ने नागरिकों से अपील की कि वह जनता कर्फ्यू वाले दिन शाम 5 बजे घर की बालकनी‚ दरवाजा‚ खिड़की या छत पर पांच मिनट ताली बजाकर या थाली बजाकर ऐसे लोगों का आभार भी व्यक्त करें।

उन्होंने (PM Narendra Modi) कहा कि सभी राज्य सरकारें जनता कर्फ्यू का पालन कराएं और एनसीसी‚ एनएसएस‚ सिविल सोसाइटी‚ धार्मिक और खेल संगठन इसके लिए लोगों को जागरूक करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति हर दिन कोरोना (Coronavirus) और जनता कर्फ्यू के विषय में दस–दस व्यक्तियों को फोन करके जागरूक कर सकता है।

मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि यह बीमारी इतनी अधिक बड़ी है कि कोई देश दूसरे देश की मदद नहीं कर पा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इसकी कोई दवा भी नहीं है‚ इसका मुकाबला खुद को और दूसरों को बचाकर ही किया जा सकता है।

उन्होंने  (PM Narendra Modi) कहा कि इसके लिए जरूरी है कि लोग अलग–अलग रहें‚ सड़क‚ बाजार और यात्राओं से बचें। प्रधानमंत्री ने कहा कि केवल डॉक्टर‚ सरकारी कर्मचारी‚ मीडियाकर्मी इत्यादि को ही बाहर निकलने की जरूरत है‚ क्योंकि समाज को उनकी सेवाओं की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इन लोगों का योगदान सराहनीय है‚ क्योंकि वे खुद के संक्रमण की परवाह नहीं करके समाज की सेवा कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here