Coronavirus: संकट से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने किया 1.70 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान, यहां देखें क्या हुईं घोषणाएं…

कोरोना वायरस से (Coronavirus) प्रभावित अर्थव्यवस्था और गरीबों की मदद के लिए केंद्र सरकार ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया है। वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने 26 मार्च को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज’ की घोषणा की।

Coronavirus
संकट से निपटने के लिए 1.70 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान।

80 करोड़ लोगों को सस्ते दर मिलेगा अनाज: सरकार ने जो बड़ा ऐलान किया है, उसमें 3 महीनों तक एम्प्लॉइ और एम्प्लॉयर दोनों के हिस्से का योगदान सरकार करेगी। वित्त मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना 80 करोड़ लोगों को सस्ते दर अनाज मिलेगा। सरकार ने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से कोई भी गरीब खाना को लेकर चिंता न करे। गरीब लोगों को 5 किलो अतिरिक्त अनाज 3 महीने मुफ्त में मिलेगा। उनको एक किलो दाल भी फ्री में मिलेगा। गेहूं, चावल के साथ दाल भी गरीबों को मिलेगा।

स्वास्थ्य कर्मचारियों को 50 लाख रुपये का इंश्योरेंस: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत रजिस्टर्ड सेल्फ हेल्प ग्रुप को कोलैटरल फ्री लोन की सीमा 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दिया है। इससे 7 करोड़ परिवारों को फायदा होगा। सरकार ने कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने में अपना योगदान देने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों को 50 लाख रुपये का इंश्योरेंस देने का ऐलान किया है। इससे डॉक्टरों, पारामेडिक और स्वास्थ्य कर्मचारियों को फायदा मिलेगा।

मान जाओ… अभी भी वक्त है, नहीं तो मई तक हालात बद से बदतर हो जाएंगे- रिसर्च में दावा

8.69 करोड़ किसानों को मिलेंगे 2 हजार रुपये: 8.69 करोड़ किसानों को 2 हजार रुपये मिलेंगे।  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को अप्रैल के पहले ही हफ्ते में पहली किश्त ट्रांसफर कर दी जाएगा। साथ ही मनरेगा के तहत काम करने वालों की सैलरी बढ़ाई गई है। मनरेगा दिहाड़ी अब 182 से बढ़ाकर 202 रुपये कर दी गई है। इसके तहत आने वाले 5 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिलेगा। गरीब बुजुर्ग, गरीब विधवा और गरीब दिव्यांगों को इस कठिन वक्त में दिक्कत न हो तो उन्हें 1000 रुपये अतिरिक्त तीन महीनों के लिए मिलेंगे। ये दो​ किश्तों में डीबीटी के जरिए उनके बैंक खाते में जाएगा।

20 करोड़ जनधन खाताधारी महिलाओं को 500 रुपये प्रति माह: प्रधानमंत्री जनधन खाताधारी महिलाओं के खाते में प्रति महीने 500 रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे। इससे 20 करोड़ जनधन महिलाओं को फायदा होगा। यह डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर होंगे। कोरोना वायरस  (Coronavirus) की चिंता से मुक्त करने के लिए सरकार के इन बड़े ऐलानों से अन्न-धन और गैस की चिंता खत्म होगी। करीब 8.3 बीपीएल करोड़ परिवारों को उज्जवला स्कीम के तहत 3 महीने तक फ्री एलपीजी सिलेंडर दिए जाएंगे।

कोरोना के कारण भारत में पोल्ट्री उद्योग को रोजाना 300 करोड़ का नुकसान

अगले तीन महीने तक EPF सरकार भरेगी: सरकार अगले तीन माह तक एंप्लॉयर व एम्प्लॉई दोनों की ओर से ईपीएफ कॉन्ट्रीब्यूशन देगी। यानी दोनों की ओर से किया जाने वाला 12-12 फीसदी का कॉन्ट्रीब्यूशन यानी कुल 24 फीसदी कॉन्ट्रीब्यूशन सरकार देगी। ये उन सभी संस्थानों के लिए हैं, जिनके यहां 100 कर्मचारी तक हैं और उन 100 कर्मचारी में से 90 फीसदी तक कर्मचारी 15000 रुपये से कम की मासिक सैलरी पाते हैं। इससे 80 लाख से ज्यादा कर्मचारी और 4 लाख से ज्यादा संस्थानों को फायदा होगा। इसके अलावा, सरकार ने पीएफ रकम निकालने की शर्तों में ढील देने की घोषणा की है। वित्त मंत्री ने कहा, कर्मचारी 3 महीने का वेतन या 75 फीसदी रकम, अपने पीएफ खाते से निकाल सकेंगे। इससे 4.8 करोड़ लोगों को फायदा होगा।

मजदूरों के लिए वेलफेयर फंड: सरकार ने निर्माण कार्य में लगे मजदूरों के लिए भी घोषणा की है। वित्त मंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के समय कंस्ट्रक्शन वर्कर्स को काफी दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इनको वेलफेयर फंड से मदद दी जाएगी। 3.5 करोड़ रजिस्टर्ड मजदूरों के लिए यह 31,000 करोड़ का फंड उपलब्ध है। राज्यों को निर्देश दिए गए हैं कि कोरोना (Coronavirus) से पैदा हुए व्यवधान से इस फंड का इस्तेमाल इन कंस्ट्रक्शन वर्कर्स के हित के लिए किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here