Coronavirus: क्षेत्र में स्थिति का जायजा लेने पहुंचे झारखंड के शिक्षा मंत्री, कहा- भूख से किसी गरीब की मौत हुई तो बख्शे नहीं जाएंगे अधिकारी

लॉक डाउन के दौरान लोगों के लिए प्रशासन द्वारा किए गए व्यवस्था का जायजा लेने झारखंड (Jharkhand) के शिक्षा मंत्री सह डुमरी के विधायक जगरनाथ महतो 29 मार्च दोपहर को डुमरी पहुंचे।

Coronavirus

करोना महामारी (Coronavirus) में हुए संपूर्ण लॉकडाउन में राज्य सरकारें भी पूरा एहतियात बरत रही हैं। इस लॉकडाउन के दौरान लोगों को आ रही समस्याओं का भी सरकार और प्रशासन ध्यान रखने की पूरी कोशिश कर रहा है। इसी कड़ी में लॉकडाउन के दौरान लोगों के लिए प्रशासन द्वारा किए गए व्यवस्था का जायजा लेने झारखंड (Jharkhand) के शिक्षा मंत्री सह डुमरी के विधायक जगरनाथ महतो 29 मार्च दोपहर को डुमरी पहुंचे।

Coronavirus
लॉकडाउन के दौरान क्षेत्र में स्थिति का जायजा लेने पहुंचे झारखंड के शिक्षा मंत्री।

सबसे पहले शिक्षा मंत्री डुमरी स्थित एफसीआई गोदाम में पहुंचकर अनाज आवंटन का जायजा लिया तथा एफसीआई गोदाम प्रबंधक को निर्देश दिया कि सही समय पर डीलरों को डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से अनाज मुहैया करवाएं। अगर किसी प्रकार की गड़बड़ी होगी तो सीधे कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, डुमरी प्रखंड विकास पदाधिकारी सोमनाथ बंकिरा से क्षेत्र के गरीबों के लिए अनाज की व्यवस्था का जायजा लेते हुए कहा कि किसी भी गरीब को अनाज की कमी नहीं होनी चाहिए। अनाज के अभाव में किसी भी गरीब की मौत नहीं होनी चाहिए। अगर ऐसा होता है तो कड़ी करवाई की जाएगी।

छत्तीसगढ़: नक्सलियों के IED ब्लास्ट में बाल-बाल बचे जवान, दंतेवाड़ा में पोस्टर चिपका फैलाई सनसनी

डुमरी प्रखंड विकास पदाधिकारी सोमनाथ बंकिरा ने शिक्षा मंत्री को बताया कि सभी पंचायतों के गरीबों के लिए 10-10 किलो अनाज का आवंटन कर दिया गया है। साथ ही विशेष परिस्थिति के लिए संबंधित पंचायत के मुखिया के खाते में 10-10 हजार रुपये भी भेज दिए गए हैं। शिक्षा मंत्री ने डुमरी के प्रखंड विकास पदाधिकारी को दाल-भात केंद्र की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया।

मंत्री ने कहा कि डुमरी के सभी क्षेत्रों में दाल-भात केंद्र को खोलें, ताकि दूर-दूर से आने वाले राहगीरों को भी भोजन की कोई दिक्कत न हो। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने संभावित करोना (Coronavirus) मरीजों के लिए प्रशासन द्वारा बनाए जा रहे डिस्टेंशिंग सेंटर का भी जायजा लेते हुए आवश्यक निर्देश दिए।

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि झारखंड की जनता ने लॉकडाउन को सफल बनाया है, जिसके कारण झारखंड में अभी तक एक भी करोना (Coronavirus) पॉजिटिव व्यक्ति नहीं मिले हैं। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि करोना (Coronavirus) से बचना है तो लॉकडाउन का पालन करें, संयमित रहें तथा दूसरों से भी लॉकडॉउन का पालन करवाएं।

यह भी पढ़ें