कोरोना के कहर से कश्मीर का कारोबार हुआ कंगाल, वैष्णो देवी आने वाले NRI पर रोक

जम्मू–कश्मीर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के दो मामलों की पुष्टि होने के बाद एक और व्यक्ति के संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है। इसकी रिपोर्ट अभी आना बाकी है। वहीं‚ इस वायरस के मद्देनजर जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में प्रशासन द्वारा उठाए जा रहे एहतियाती कदमों का सबसे ज्यादा असर पर्यटन पर तो पड़ रहा है। मां वैष्णो देवी (Vaishno Devi) के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ में भी कमी होती देखी जा रही है। इस बीच श्रीनगर जिला प्रशासन की ओर से वहां के पार्क व बगीचों को भी बंद करने का आदेश जारी किया गया, वहीं उधमपुर जिला प्रशासन ने पटनीटॉप टूरिस्ट रिजार्ट्स के तमाम होटलों को आगामी 31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी किए हैं।

Coronavirus

कोरोना वायरस (Coronavirus) के भय के कारण ज्यादा लोगों के एकत्र न होने को लेकर समूचे जिला रियासी में धारा 144 लगा दी गई है। मां वैष्णो देवी का आधार शिविर कटरा इसी जिले के तहत आता है। प्रशासन का कहना है कि कटरा में होटल व ढाबों को बंद नहीं किया गया है। चूंकि प्रशासन की प्राथमिकता मां वैष्णो देवी की यात्रा को भी बनाए रखना है।

पढ़ें- भारत में संक्रमण से तीसरी मौत, मरीजों की संख्या पहुंची 130

कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे को भांपते हुए श्री माता वैष्णो देवी (Vaishno Devi) श्राइन बोर्ड ने विदेशी नागरिकों तथा अप्रवासी भारतीयों यानी एनआरआई (NRI) के माता वैष्णो देवी की यात्रा करने पर रोक लगा दी है। श्राइन बोर्ड ने जारी एडवाइजरी में कहा है कि देशभर से आने वाला कोई भी अगर खांसी और जुकाम से पीडित है तो वे यात्रा पर न आए। इस बाबत रेलवे स्टेशन कटड़ा‚ हेलीपैड‚ निहारिका कांप्लेक्स में यात्री हेल्प डेस्क स्थापित किए हैं।

<

p style=”text-align: justify;”>इस वायरस का असर पर्यटकों तथा श्रद्धालुओं से जुड़े कारोबार करने वालों पर भी दिख रहा है। यहां के टूर आपरेटरों का कहना है कि कोराना वायरस (Coronavirus) के डर से उनके कारोबार को काफी धक्का लगा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here