Coronavirus Updates: एक्शन में अमित शाह, दिल्ली सरकार को स्पष्ट शब्दों में दिये ये निर्देश

दिल्ली की राजनीतिक पार्टियों से कोरोना वायरस (Coronavirus) के रोकथाम को लेकर सुझाव मांगे गए है। इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah)  ने कहा कि राजनीतिक द्वेष को भुलाकर सभी पार्टियां दिल्ली की जनता के हित के लिए मिलकर काम करें।

Home Minister कोरोना वायरस CoronaVirus COVID-19

Home Minister Amit Shah in action for Delhi's fight against coronavirus. II कोरोना वायरस CoronaVirus COVID-19

Coronavirus Updates: दिल्ली (Delhi) में लगातार कोरोना (Coronavirus) के बढ़ रहे मामलों से निपटने के लिए गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) की अगुआई में एक सर्वदलीय बैठक हुई। बैठक में राजधानी के सभी दलों द्वारा उठाए गए मामलों पर संज्ञान लेते हुए शाह ने निजी अस्पतालों में मूल्य निर्धारण करने के लिए एक समिति गठित की, जो दो दिनों के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगी। बैठक में बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता, आम आदमी पार्टी (AAP) की तरफ से संजय सिंह व कांग्रेस (Congress) के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी शामिल हुए।

Coronavirus: भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 3 लाख 32 हजार के पार, 9,520 लोगों की मौत

केंद्रीय गृह सचिव, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव, दिल्ली के मुख्य सचिव और दिल्ली सरकार के प्रिंसिपल सेक्रेटरी हेल्थ भी बैठक में शामिल हुए। बैठक के बाद आदेश गुप्ता ने कहा कि गृह मंत्री (Home Minister) ने कहा है कि 20 जून से दिल्ली सरकार (Delhi Govt) हर रोज 18,000 जांच करने लगेगी। इसके अलावा गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली सरकार को आदेश दिये दिए कि कोरोना वॉर्ड में CCTV लगाए जाएं, जिससे मरीजों की परेशानियों और गतिविधियों का पता चल सके। साथ ही खाना पहुंचाने वाले कैंटीन का बैकअप रखा जाए।इसके अलावा डॉक्टरों और नर्सों की काउंसिलिंग की जाए।

उन्होंने कहा कि बैठक में बीजेपी ने सुझाव दिया कि निजी अस्पतालों में इलाज के लिए दरें तय होनी चाहिए। इस पर गृह मंत्री ने एक समिति गठित की है, जो दो दिनों के भीतर एक रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। इस रिपोर्ट के आधार पर मूल्य निर्धारित किए जाएंगे।

वहीं, दिल्ली कांग्रेस (Delhi Congress) अध्यक्ष अनिल चौधरी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निजी अस्पतालों को जिम्मेदार ठहराकर भ्रामकता पैदा करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि हमने गृह मंत्री (Home Minister) को इस संबंध में साक्ष्य प्रस्तुत किए है, उन्होंने जांच के लिए इसे स्वास्थ्य सचिव के पास भेजा है। चौधरी ने पूछा, 2609 बिस्तरों वाले तीन बड़े अस्पतालों का निर्माण दिसम्बर 2019 तक पूरा हो जाना चाहिए था, लेकिन वह कहां है?

अनिल चौधरी ने सुझाव दिया कि राजधानी में सभी की जांच होनी चाहिए। सभी देशों में परीक्षण और ट्रेसिंग नीति के माध्यम से ही उपचार संभव है। गृह मंत्री (Home Minister) ने इस बात को स्वीकार किया है और उन्होंने आश्वासन दिया है कि नई परीक्षण नीति के तहत सभी को परीक्षण का अधिकार होगा। उन्होंने यह भी मांग की कि हर उस परिवार को 10,000 रुपये का भुगतान किया जाए, जिसका सदस्य संक्रमित है या कंटेनमेंट जोन में रहता है।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार, राजनीतिक पार्टियों से कोरोना वायरस (Coronavirus) के रोकथाम को लेकर सुझाव मांगे गए है। इससे पहले बैठक में गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah)  ने कहा कि राजनीतिक द्वेष को भुलाकर सभी पार्टियां दिल्ली की जनता के हित के लिए मिलकर काम करें।

यह भी पढ़ें