बिहार: शादी में शामिल 111 लोग कोरोना संक्रमित, अगले दिन दूल्हे की मौत

बिहार की राजधानी पटना में एक शादी समारोह में शामिल होने वाले 111 लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं। दूल्हे की पहले ही मौत हो चुकी है।

Wedding Ceremony Corona Positive,

पटना में जानलेवा बन गया शादी समारोह। सांकेतिक तस्वीर

बिहार की राजधानी पटना में एक शादी समारोह में शामिल होने वाले 111 लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं। दूल्हे की पहले ही मौत हो चुकी है। शादी समारोह में शामिल 169 लोगों की अब तक जांच हो चुकी है। इनमें 89 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं 31 लोग पहले ही संक्रमित पाए गए थे।

पटना के पालीगंज में हुए इस शादी समारोह में दूल्हे की मौत शादी के अगले दिन ही हो गई थी। जिसके बाद अब मामला ये सामुदायिक संक्रमण रूप लेता नजर आ रहा है।

बताया जा रहा है कि 30 साल का दूल्हा सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। दिल्ली से सटे गुरुग्राम स्थित एक कंपनी में काम करता था। शादी करने के लिए 12 मई को पटना अपने गांव डीहपाली आया था। इसी दौरान उसके अंदर कोविड-19 के लक्षण पाए गए लेकिन परिवार वालों ने जांच कराने के बजाए उसकी शादी करवा दी।

शादी के अगले दिन ही उसकी तबीयत काफी बिगड़ गई और पटना एम्स ले जाने के दौरान ही उसकी मौत हो गई। मामले की खबर जब जिला प्रशासन को लगी तो हड़कंप मच गया। शादी में शामिल हुए सभी मेहमानों की कोरोना जांच कराई गई। जिला प्रशासन के मुताबिक, शादी 15 जून को हुई थी और अगले दिन ही दूल्हे की मौत हो गई।

शादी में शामिल हुए कुछ लोगों में कोरोना के लक्षणों की शिकायत थी जिसके बाद बारातियों का ग्रुप सैंपल लिया गया, जहां 9 लोग संक्रमित पाए गए। इसके बाद कुछ और लोगों के संक्रमित होने की जानकारी मिली। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि चार चरणों में अब तक 369 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं।

परिवार के मुताबिक दूल्हा शादी से पहले गाड़ी के जरिए दिल्ली से बिहार आया था। बिहार पहुंचने के बाद वह कुछ दिनों तक आइसोलेशन में भी रहा था। परिवार का कहना है कि शादी से पहले कोरोना के कुछ लक्षण नजर आने लगे थे। शादी के अगले दिन ही उसकी मौत हो गई। अंतिम संस्कार में शामिल हुए इलाके के स्थानीय दुकानदार, सब्जी विक्रेता और हलवाई की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव है।

कोविड-19 जांच में दुल्हन संक्रमित नहीं मिली और उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। प्रशासन ने बताया है कि इस पूरे मामले में कोविड-19 के बचाव के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई। प्रशासन ने किसी भी विवाह समारोह में केवल 50 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी है लेकिन इस शादी में गांव के सैकड़ों लोग शामिल हुए थे।