Corona Virus: चीन में मरने वालों की संख्या बढ़ी, हांगकांग में सार्वजनिक स्थलों को किया गया बंद

चीन में कोरोना वायरस (Corona Virus) से मरने वालों की संख्या बढ़कर 131 हो गई है। तिब्बत को छोड़कर चीन के सभी प्रांतों से कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इस वायरस को फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है। वहीं, 29 जनवरी को सेंट्रल हुबेई प्रांत में अधिकारियों ने 25 घातक और 840 नए मामलों की रिपोर्ट दी है।

Corona Virus
चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़ी।

चीन (China) सरकार ने पहले ही वुहान और हुबेई प्रांत के अन्य शहरों में आवाजाही पर पूरी तरह रोक लगा दी है। बता दें कि कोरोना वायरस (Corona Virus) का केंद्र चीन का शहर वुहान ही है। चीन के अलावा थाइलैंड में सात मामले, जापान में तीन, दक्षिण कोरिया में तीन, अमेरिका में तीन, वियतनाम में दो, सिंगापुर में चार, मलेशिया में तीन, नेपाल में एक, फ्रांस में तीन, ऑस्ट्रेलिया में चार और श्रीलंका में कोरोना वायरस का एक मामला सामने आया है। जर्मनी और कनाडा में भी कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि हुई है। चीन की केंद्र सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, अब तक कोरोना वायरस (Corona Virus) के 5300 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

अमेरिका-जापान ने अपने नागरिकों को किया एयरलिफ्ट

कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रकोप से पैदा हुई स्थिति के मद्देमजर जापान ने अपने 200 नागरिकों को शहर से एयरलिफ्ट किया और अमेरिका ने लगभग 240 अमेरिकियों को हवाई मार्ग से बाहर निकाल लिया है। श्रीलंका में पहले कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के एक दिन बाद श्रीलंका ने भी चीनी यात्रियों के लिए आगमन पर वीजा देने की अपनी नीति पर 28 जनवरी को फिलहाल के लिए रोक लगा दी है। वहीं, भारत सरकार ने भी अपने लोगों को वहां से निकालने की बात कही है।

भारतीय नागरिकों को निकालने की तैयारियां शुरू

कोरोना वायरस से पैदा हुए हालात के चलते भारतीय नागरिकों को वहां से निकालने के लिए भारत ने तैयारियां शुरू कर दी है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास इस मुद्दे पर चीन की सरकार, अधिकारियों और नागरिकों के संपर्क में है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘हमने चीन के हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस के प्रकोप से पैदा हुए हालात से प्रभावित भारतीय नागरिकों को वहां से निकालने के लिए तैयारियां शुरू कर दी है।’

 

रवीश कुमार ने ट्वीट में कहा, ‘हमारा बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास विभिन्न पहलुओं पर काम कर रहा है और वह चीन की सरकार, अधिकारियों और हमारे नागरिकों के संपर्क में है। हम ताजा जानकारी साझा करते रहेंगे।’ हुबेई प्रांत के स्वास्थ्य आयोग ने 28 जनवरी को कहा कि 27 जनवरी तक नए किस्म के निमोनिया (कोरोना वायरस) के हुबई प्रांत में कुल 4,515 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। 2,567 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, इनमें से 563 की हालत गंभीर है और 127 की हालत नाजुक बनी हुई है। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, 27 जनवरी को बुखार से पीड़ित 31,934 मरीज अस्पतालों में आए हैं।

हांगकांग में सार्वजनिक स्थलों को किया गया बंद

हांगकांग ने 27 जनवरी को कहा कि वह खेलकूद केंद्रों समेत सार्वजनिक स्थलों को बंद कर रहा है ताकि वायरस को फैलने से रोका जा सके। अधिकारियों ने कहा कि 29 जनवरी से सभी मनोरंजन स्थल भीड़-भाड़ से बचने के लिए अस्थायी तौर पर बंद रहेंगे। शहर के सांस्कृतिक सेवा विभाग ने कहा कि खेलकूद केंद्र, मैदान, स्वीमिंग पूल, बीच, पिकनिक स्थल और सांस्कृतिक केंद्र एवं संग्रहालय बंद रहेंगे। यहां होने वाले कार्यक्रम भी आगामी नोटिस तक रद्द रहेंगे। अधिकारियों ने सभी स्कूलों में चीनी नववर्ष का अवकाश फरवरी मध्य तक बढ़ाने की घोषणा की है। सरकारी कर्मचारियों को घर से काम करने के निर्देश दिए गए हैं।

जोखिम का आंकलन करने में हुई गलती- WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 27 जनवरी को यह स्वीकार किया कि चीन में इस घातक विषाणु के वैश्विक जोखिम का आंकलन करने में उससे गलती हुई। उसने कहा कि जोखिम ‘मध्यम’ श्रेणी में नहीं बल्कि उच्च श्रेणी में है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग (Xi Jinping) ने 28 जनवरी को कहा था कि देश ‘खतरनाक कोरोना वायरस (Corona Virus) से लड़ रहा है और इस बीमारी पर लगाम कसने के लिए सरकार पूरी तरह पारदर्शिता बरतेगी। जिनफिंग ने कहा, ‘यह महामारी विकराल है और इसे हम छिपा नहीं सकते। सरकार पारदर्शिता बरतेगी और विषाणु के बारे में सूचना समय पर जारी करेगी।’

पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप का नया फंडा, ऐसे सुलझाना चाहते हैं इजराइल-फिलिस्तीन विवाद, नया विवाद शुरू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here