भारत-चीन तनाव के बीच चीनी राजदूत का चौंकाने वाला बयान, जानें क्या कहा

दोनों देशों के बीच तनाव कम करने और सैनिकों के पीछे हटने को लेकर रविवार को कोर कमांडर स्तर की वार्ता हुई थी।

India China Clash

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फाइल फोटो)

भारत और चीन (China) के बीच सीमा विवाद को लेकर तनाव जारी है। पूर्वी लद्दाख घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। इसके बाद से ही दोनों देशों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर सक्रियता बढ़ा दी है। इस बीच भारत-चीन संबंधों पर अमेरिका में चीनी राजदूत का बड़ा बयान आया है।

उन्होंने कहा कि भारत-चीन संबंधों में सीमा विवाद हावी नहीं होना चाहिए। निश्चित रूप से जून में सीमा विवाद के चलते दोनों देशों की सेनाएं टकराई हैं, लेकिन यह परमाणु संपन्‍न शक्तियों के मध्‍य संबंधों पर हावी नहीं होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि यह भारत-चीन की दोस्‍ती का दृष्टिकोण है।

यह भी पढ़ें- बॉर्डर पर चीन की हर चाल को नाकाम कर देगा भारत, मोर्चे पर तैनात किया ये टैंक

दोनों देशों के बीच तनाव कम करने और सैनिकों के पीछे हटने को लेकर रविवार को कोर कमांडर स्तर की वार्ता हुई थी। जिसमें चीन अपनी सेना को पीछे हटाने के लिए पहले तो राजी हो गया और बाद में मुकर गया। बता दें कि 15, 16 जून को हुए हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे। वहीं भारतीय सैनिकों ने चीन के 35 से 40 सैनिक मार गिराए थे।

चीन अभी तक इंटरनेशनल मीडिया में मारे गए सैनिकों की संख्या छुपाता फिर रहा है। वह एक तरफ तो शांति बहाल करने की बात करता है। तो वहीं दूसरी ओर तनावग्रस्त इलाके में पीपल्स लिबरेशन आर्मी की संख्या बढ़ा रहा है। लेकिन भारत चीन की हर चाल का जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार है।

यह भी देखें- 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें