चीन हुआ बेनकाब, खुद फायरिंग कर भारत पर लगाया था ये आरोप

पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर हुई ताजा घटना पर भारतीय सेना (Indian Army) बयान जारी कर चीन (China) की पोल खोल दी है। चीन के दावों को पूरी तरह झुठलाते हुए भारत ने कहा कि पीएलए के जवानों ने उकसावे की कार्रवाई की।

India China Tension

फाइल फोटो।

भारतीय सेना ने कहा कि चीन (China) की सेना ने खुद फायरिंग की और आरोप हम पर लगा रहा है। भारत ने कहा चीन लगातार समझौते का उल्लंघन कर रहा है और आक्रामक रवैया अपना रहा है।

पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर हुई ताजा घटना पर भारतीय सेना (Indian Army) बयान जारी कर चीन (China) की पोल खोल दी है। चीन के दावों को पूरी तरह झुठलाते हुए भारत ने कहा कि पीएलए के जवानों ने उकसावे की कार्रवाई की। भारतीय सेना ने साफ कहा कि उसने लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पार नहीं की और न ही गोलियां चलाईं।

सेना ने कहा कि चीन की पीएलए बातचीत जारी रहने के बावजूद समझौतों का उल्‍लंघन कर रही है। दरअसल, 7 सितंबर की रात चीनी सेना ने दावा किया कि पैंगोंग झील के दक्षिणी तट पर भारतीय सेना ने वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन करते हुए फायरिंग की।

जिसके जवाब में 8 सितंबर को भारतीय सेना ने कहा कि ड्रैगन की सेना ने खुद फायरिंग की और आरोप हम पर लगा रहा है। भारत ने कहा चीन लगातार समझौते का उल्लंघन कर रहा है और आक्रामक रवैया अपना रहा है। जबकि सैन्य, कूटनीतिक और राजनीतिक स्तर पर दोनों देशों के बीच बातचीत जारी है।

भारत-चीन तनाव के बीच पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर में बांध बना रहा चीन, सड़क पर उतरे लोग

बयान के मुताबिक, “07 सितंबर 2020 को चीन के सैनिकों ने एलएसी के साथ हमारे एक फॉरवर्ड पोजिशन के नजदीक आने की कोशिश की और जब उसके अपने सैनिकों ने उन्हें रोका तो चीनी सैनिकों ने अपने ही सैनिकों को उकसाने के लिए कुछ हवाई फायरिंग की। इतने उकसावे के बाद भी भारतीय सैनिकों ने बड़ा संयम दिखाया और अपने परिपक्व व्यवहार का परिचय दिया।”

बयान में आगे कहा गया कि भारतीय सेना शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, हालांकि हर कीमत पर राष्ट्रीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए भी प्रतिबद्ध है। भारतीय सेना के बयान में कहा गया है कि चीन के वेस्टर्न थिएटर कमांड की तरफ से जारी किया गया बयान उनके अपने लोगों को और इंटरनेशनल समुदाय को गुमराह करने के लिए है।

छत्तीसगढ़: नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी, मैदान में उतरी फोर्स

चीन (China) के इस प्रौपगैंडा का जवाब देते हुए भारतीय सेना की ओर से फायरिंग वाले चीनी दावे को भारत सरकार ने झुठला दिया है। भारत ने साफ शब्दों में कह दिया है कि चीन एलएसी पर खुद फायरिंग करके भारतीय सेना पर आरोप लगा रहा है।

बता दें कि ग्लोबल टाइम्स ने चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से पैंगोग सो के पास झड़प का दावा किया था। इसमें पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) वेस्टर्न थिएटर कमांड के प्रवक्ता ने भारतीय सेना पर अवैध रूप से LAC को पार करने का आरोप लगाया।

भारत-चीन तनाव के बीच भारतीय सेना ने दिखाई उदारता, बॉर्डर पर भटके जानवरों को चीन को लौटाया

वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से ग्‍लोबल टाइम्‍स ने लिखा, “भारतीय सेना ने पैंगोंग सो झील के दक्षिणी छोर के पास शेनपाओ की पहाड़ी पर एलएसी को पार किया। भारतीय जवानों ने बातचीत की कोशिश कर रहे पीएलए के बॉर्डर पट्रोल से जुड़े सैनिकों पर वार्निंग शॉट फायर किए जिसके बाद चीनी सैनिकों को हालात काबू में करने के लिए कदम उठाने पड़े।”

पीएल के वेस्टर्न थियेटर कमांडर के प्रवक्ता झांग शुई ने भारत पर आरोप लगााते हुए कहा, “भारतीय पक्ष ने द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन किया है। इससे क्षेत्र में तनाव और गलतफहमी बढ़ेंगे। यह एक गंभीर सैन्य उकसावा है।”

Coronavirus Updates: भारत में कोरोना का आंकड़ा पहुंचा 43 लाख के करीब, 24 घंटे में सामने आए 75,809 मामले

झांग ने आगे कहा, “हम भारतीय पक्ष से मांग करते हैं कि खतरनाक कदमों को रोके और फायरिंग करने वाले शख्स को सजा दे। साथ ही भारत यह सुनिश्चित करे कि ऐसी घटनाएं दोबारा ना हों। पीएलए के वेस्टर्न कामांड के सैनिक अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे और राष्ट्र की क्षेत्रीय संप्रभुता की रक्षा करेंगे।”

उधर, चीन (China) के अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स (Global Times) ने भारत को गीदड़ भभकी दी है। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने अपने संपादकीय में 8 सितंबर को कहा कि हम भारत के साथ जंग नहीं चाहते हैं लेकिन अगर भारत ने चीन की अच्‍छी मंशा का गलत मतलब निकाला और चेतावनी में गोलियां चलाईं तो हम युद्ध से पीछे नहीं हटेंगे।

राजस्थान के लाल शमशेर अली खान हुए सुपुर्द-ए-खाक, परिवार चार पीढ़ियों से कर रहा है देश सेवा

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा, “हम भारत के साथ युद्ध नहीं चाहते हैं लेकिन भारतीय पक्ष अगर चीन की अच्‍छी मंशा का गलब मतलब न‍िकालेगा या चेतावनी में गोली चलाकर रोकने का प्रयास करेगा तो यह दांव भारत को उल्‍टा पड़ेगा। चीन युद्ध से बचने के लिए हार नहीं मानेगा।”

चीनी अखबार ने धमकी दी, “हमें भारत को गंभीरतापूवर्क चेतावनी देनी होगी। भारत के अग्रिम मोर्चे के सैनिकों ने वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पार की। भारत की चीन के प्रति नीतियों ने लक्ष्‍मण रेखा पार की। भारत अतिअविश्‍वास में पीएलए और चीनी जनता को उकसा रहा है। यह एक तरीके से चट्टान के किनारे खड़े रहने जैसा है।”

ये भी देखें-

इसके बाद भारत ने एक बार फिर से चीन (China) की झूठ से पर्दा हटा दिया है। भारत ने बयान जारी कर कहा है कि पीएलए के जवानों ने उकसावे की कार्रवाई की है। भारत ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि भारतीय सेना ने एलएसी पर फायरिंग नहीं की है और न ही पार की है। बल्कि कुछ जगहों पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने ही फायरिंग की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें