Chhattisgarh: सालों पहले संगठन छोड़ जी रहा था खुशहाल जिंदगी, जन अदालत लगाकर नक्सलियों ने मार डाला

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धुर नक्सल ग्रस्त सुकमा जिले में नक्सलियों (Naxals) का घिनौना चेहरा फिर सामने आया है। नक्सलियों (Naxali) ने अपने एक पूर्व साथी की जन अदालत लगाकर हत्या कर दी।

Naxals

छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल ग्रस्त सुकमा जिले में नक्सलियों का घिनौना चेहरा फिर सामने आया है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के धुर नक्सल ग्रस्त सुकमा जिले में नक्सलियों (Naxals) का घिनौना चेहरा फिर सामने आया है। नक्सलियों (Naxali) ने एक पूर्व नक्सली की जन अदालत लगाकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि मृतक काफी समय पहले नक्सली संगठन (Naxal organization) में सक्रिय था। उसने साल 2012 में नक्सली संगठन छोड़ दिया था।

आत्मसमर्पण करने के बाद वह आंध्र प्रदेश चला गया था। सुकमा के एसपी शलभ सिन्हा ने इस बात की पुष्टि की है। मृत व्यक्ति का नाम नागेश है। यह जगरगुंडा थाना क्षेत्र का मामला है, जहां कल शाम नक्सलियों (Naxalites) ने नागेश की हत्या के बाद चिमलिपेंटा के पास फेंक दिया। जानकारी के मुताबिक, मृतक नक्सली संगठन छोड़कर आंध्रप्रदेश चला गया था। वह शांति से अपनी जिंदगी जी रहा था।

गुमला में महिला ने कायम की बहादुरी की मिसाल, खूंखार नक्सली कमांडर को मार गिराया

कुछ समय पहले ही नागेश चिमलिपेंटा वापस लौट था। इसकी जानकारी मिलते ही नक्सली (Naxali) उसे उठाकर ले गए। ग्रामीणों के मुताबिक, नक्सलियों (Naxals) ने मृतक पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगते हुए मौत के घाट उतार दिया। पुलिस (Police) घटना स्थल पर पहुंच मामले की छानबीन कर रही है।

बता दें कि कोरोना वायरस (Corona Virus) से फैली महामारी के चलते देशभर में लॉकडाउन चल रहा है। इस मुश्किल वक्त में पुलिस प्रशासन को दोहरे मोर्चे पर काम करना पड़ रहा है। पुलिस लोगों की मदद करने के साथ-साथ नक्सलियों (Naxals) से भी लोहा लेना पड़ रहा है, क्योंकि इस बुरे वक्त में भी नक्सली (Naxali) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। हालांकि जवान पूरी सतर्कता बरत रहे हैं और उन्हें कोई मौका नहीं दे रहे।

यह भी पढ़ें