छत्तीसगढ़ के सुकमा में पुलिस पर हमला करने वाले तीन नक्सली गिरफ्तार, विस्फोटक भी मिले

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस पर हमला करने वाले 3 दुर्दांत नक्सलियों (Naxalites) को यहां पुलिस ने धर दबोचा है।

Naxalites

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस पर हमला करने वाले 3 दुर्दांत नक्सलियों (Naxalites) को यहां पुलिस ने धर दबोचा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चिंतागुफा थाना प्रभारी संदीप चंद्राकर और एसटीएफ की टीम को आसपास के नक्सली प्रभावित क्षेत्रों में सर्चिंग के लिए रवाना किया गया था।

Naxalites

तोकनपल्ली के जंगलों में पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ जबरदस्त घेराबंदी कर दी। इसी दौरान पुलिस ने 3 नक्सलियों (Naxalites) को पकड़ा। पकड़े गए नक्सलियों में कुंजाम लखमा, सोढ़ी देवा और माड़वी हूंगा शामिल हैं। कुंजाम लखमा आरपीसी में मिलिशिया प्लाटून सेक्सन सी कमांडर है। कुंजाम लखमा पर 1 लाख रुपए का इनाम भी प्रशासन ने रखा था। सोढ़ी देवा मिलिशिया सदस्य है।

तीनों नक्सलियों (Naxalites) के पास से विस्फोटक सामग्री भी बरामद की गई है। जिसमें 2 नग इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर, 2 नग जिलेटिन रॉड और 3 मीटर कॉर्डेक्स वायर है। यहां के एसपी शलभ सिन्हा ने मीडिया से बातचीत करते हुए इन तीनों नक्सलियों के पकड़े जाने की पुष्टि की है। पुलिस के मुताबिक चिंतागुफा थाना क्षेत्र के तोकनपल्ली और केरलापेंदा इलाके में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिल रही थी। इसके बाद सर्चिंग में इन्हें गिरफ्तार किया गया है।

Corona Virus: जानवर भी आ रहे चपेट में, न्यूयॉर्क में बाघिन पाई गई COVID-19 पॉजिटिव

इन तीनों पर पुलिस पर फायरिंग करने तथा विस्फोट करने का इल्जाम है। 3 नक्सलियों (Naxalites) को पकड़ने के बाद अब पुलिस इनसे इनके संगठन तथा साथियों के रहस्य उलगवाने में जुटी हुई है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि पूछताछ के दौरान पुलिस को इन नक्सलियों से कुछ अहम जानकारियां भी मिली हैं। फिलहाल इन सभी नक्सलियों को जेल भेज दिया गया है।

आपको बता दें कि पिछले महीने ही छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर कायरतापूर्ण हमला कर उन्हें बड़ी क्षति पहुंचाई थी। इस हमले में 17 जवान शहीद हो गए थे जबकि 13 जवान घायल भी हुए थे।

इस हमले के बाद से सुरक्षा बल काफी चौकन्ने हो गए हैं और नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ अभियान को भी तेज कर दिया गया है। कहा जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों की पैठ कमजोर पड़ने लगी है। सुरक्षाबलों के नक्सल नाशक ऑपरेशन से नक्सली इस वक्त बौखलाए हुए हैं।

यह भी पढ़ें