छत्तीसगढ़: सुकमा में मारा गया दुर्दांत नक्सली, हथियार बरामद

सुकमा के भेज्जी इलाके में पुलिस की टीम सर्च ऑपरेशन पर निकली थी। 23 जुलाई की सुबह अचानक पुलिस और नक्सलियों का आमना-सामना हो गया। जिसके बाद दोनों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई।

naxal, police naxal encounter, naxa death, sukma naxal encounter, chattisgarh DRG guard killed a naxal, Birabhatti, police killed 1 naxalite, police naxal muthbhed, police naxal encounter, sukma police, naxalite death, sirf sach, sirfsach.in

सुकमा के बीराभट्टी के जंगलों में डीआरजी जवानों ने मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया।

छत्तीसगढ़ में सुकमा के बीराभट्टी के जंगलों में डीआरजी जवानों ने नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया गया। मारे गए नक्सली का नाम मड़कम हिडमा है। जिस पर एक लाख का इनाम घोषित था। मारे गए नक्सली का शव बरामद कर लिया गया है। घटना स्थल से दो हथियार भी बरामद किए गए हैं। सुरक्षा को देखते हुए इलाके में फिलहाल हाई अलर्ट है। जानकारी के मुताबिक, सुकमा के भेज्जी इलाके में पुलिस की टीम सर्च ऑपरेशन पर निकली थी। 23 जुलाई की सुबह अचानक पुलिस और नक्सलियों का आमना-सामना हो गया। जिसके बाद दोनों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल की ओर भाग गए।

इसके बाद पुलिस ने आस-पास तलाशी की, जिसमें एक नक्सली का शव बरामद हुआ। मारे गए नक्सली की पहचान मड़कम हिडमा के रूप में हुई है। वह आरपीसी का अध्यक्ष था। शव के पास से दो देसी हथियार भी बरामद हुए हैं। साथ ही अन्य नक्सली सामान भी पुलिस ने बरामद किया है। गौरतलब है कि नक्सलवाद के खात्मे के लिए पुलिस और सुरक्षाबल जोर-शोर से अभियान चला रहे हैं। नक्सल प्रभावित इलाके में लोगों के बीच विश्वास पैदा करने के लिए पुलिस विभाग का अभियान जारी है। पुलिस नक्सलियों पर दबाव बनाने का प्रयास करने के साथ ही जनता के मन से नक्सलियों के डर को खत्म करने की कोशिश भी कर रही है।

पढ़ें: दाने-दाने को मोहताज हैं 25 लाख के इनामी नक्सली के पत्नी और बच्चे

इससे पहले 14 जुलाई को दंतेवाड़ा के गुमीयापाल के पास एक जंगल में डिस्ट्रिक रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो हार्डकोर नक्सली मारे गए थे। मारे गए नक्सलियों में एक महिला भी शामिल है। दोनों पर पांच-पांच लाख रुपए का इनाम घोषित था। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव के अनुसार, पुलिस को नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इस सूचना के आधार पर 13 जुलाई की रात जवानों की टीम को किरंदुल थाना क्षेत्र के गुमियापाल जंगल में सर्च ऑपरेशन के लिए भेजा गया। 14 जुलाई की सुबह फोर्स को देख नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक महिला और एक पुरुष नक्सली मारे गए।

पढ़ें: नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने की कवायद तेज, ध्वस्त किए जा रहे उनके अड्डे

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App