छत्तीसगढ़: सुकमा में तीन इनामी सहित 5 नक्सलियों ने किया सरेंडर, आईईडी ब्लास्ट और हत्या जैसी वारदातों में थे शामिल

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों का सरेंडर जारी है। राज्य के सुकमा में एक बार फिर सुरक्षाबलों को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है। 11 जून को एक बार फिर नक्सलियों ने सीआरपीएफ (CRPF) जवानों और पुलिस (Police) के सामने सरेंडर किया है।

Naxals

सुकमा में पांच नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सलियों का सरेंडर जारी है। राज्य के सुकमा में एक बार फिर सुरक्षाबलों को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है। 11 जून को एक बार फिर नक्सलियों ने सीआरपीएफ (CRPF) जवानों और पुलिस  (Police) के सामने सरेंडर किया है। नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में तीन इनामी नक्सलियों समेत पांच नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण (Surrender) कर दिया।

सरेंडर करने वाले नक्सलियों ने महिला सहित 5 नक्सली शामिल हैं। इनमें से दो नक्सलियों पर 5-5 लाख रुपए का और एक पर 2 लाख रुपए का इनाम घोषित था। ये नक्सली आईईडी ब्लास्ट, फायरिंग और हत्या जैसे संगीन अपराधों में शामिल रहे हैं। सरेंडर करने वाले नक्सलियों (Naxals) में 5-5 लाख रुपए के इनामी केरलापाल के रहले वाले नक्सली कमांडर मिड़ियम बंडी उर्फ नरेश और किस्टाराम क्षेत्र का माड़वी बुधरी उर्फ कमली है।

भारतीय सेना ने दिया सीजफायर उल्लघंन का मुंहतोड़ जवाब; 10 पाकिस्तानी चौकियां तबाह, पांच सैनिक ढेर

वहीं, 2 लाख रुपए का इनामी भेजी का रहने वाला करटम पोज्जा उर्फ सोनू ने भी इनके साथ सरेंडर किया है। इनके अलावा चिंतागुफा निवासी पोड़ियम गंगा और चिंतलनार निवासी मड़कम हड़मा ने भी आत्मसमर्पण किया है। नक्सलियों ने नक्सल ऑपरेशन कार्यालय में सुकमा पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी, उप कमांडेट 226वीं वाहिनी सीआरपीएफ नरेश पाल के सामने सरेंडर किया।

राज्य के बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने 11 जून को बताया कि सुकमा जिले में एक महिला नक्सली समेत पांच नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है। उनमें से दो नक्सली पांच-पांच लाख रूपए के इनामी हैं।

आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों ने बताया कि उन्होंने माओवादियों की खोखली विचारधारा, भेदभावपूर्ण व्यवहार और प्रताड़ना से तंग आकर आत्मसमर्पण करने का फैसला किया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों की आत्मसमर्पण और पुनर्वास नीति के तहत मदद की जाएगी। बता दें कि इससे पहले, सुकमा में सीआरपीएफ (CRPF) के सामने सात नक्सलियों (Naxals) ने सरेंडर किया था।

यह भी पढ़ें