छत्तीसगढ़: राजनांदगांव में नक्सलियों ने 60 साल के वृद्ध की बेरहमी से हत्या की

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव में नक्सलियों (Naxalites) ने एक 60 साल के वृद्ध की धारदार हथियार से हत्या कर दी। वृद्ध का शव सुबह गांव से कुछ दूर पर पड़ा मिला।

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव में नक्सलियों (Naxalites) ने एक 60 साल के वृद्ध की धारदार हथियार से हत्या कर दी। वृद्ध का शव 24 जून की सुबह गांव से कुछ दूर पर पड़ा मिला। जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों ने एक दिन पहले वृद्ध को अगवा कर लिया था। घटना नक्सल प्रभावित गातापार क्षेत्र की है। हालांकि, पुलिस को नक्सली वारदात को लेकर संदेह है।

पुलिस (Police) का कहना है कि आमतौर पर नक्सली वारदात के बाद पर्चा छोड़ते हैं, लेकिन मौके से ऐसा कुछ बरामद नहीं हुआ है। एएसपी जीएन बघेल के अनुसार, गातापार क्षेत्र के भावे गांव के रहने वाले 60 साल के राजवंशी सिरसाम 23 जून की शाम को घर से निकला था, इसके बाद वह नहीं लौटा। सुबह ग्रामीणों ने उसका शव के पास पड़ा हुआ देखा तो पुलिस को सूचना दी।

बॉर्डर पर देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए हरियाणा के BSF जवान ओमप्रकाश

एएसपी बघेल के मुताबिक, घटनास्थल पर किसी तरह का नक्सल पर्चा नहीं मिला है, इससे हत्या को लेकर अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। आमतौर पर ऐसी वारदात के बाद नक्सली (Naxalites) हत्या की जिम्मेदारी भी लेते हैं। कहा जा रहा है कि जिस निर्ममता से ग्रामीण की हत्या की गई है, वह नक्सलियों का ही तरीका है।

ग्रमाीणों के मुताबिक, इलाके में नक्सलियों की सक्रियता बनी हुई है। घटना के बाद से इलाके में दहशत का माहौल है। पुलिस की टीम भी जांच में जुटी हुई है। बता दें कि इससे पहले कांकेर जिले के आमाबेड़ा क्षेत्र में नक्सलियों (Naxalites) ने जन अदालत लगाकर एक ग्रामीण की हत्या कर दी थी। नक्सलियों ने इस ग्रामीण पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया है। उसकी हत्या कर शव को गांव के पास ही फेंक दिया था।

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में CRPF की टीम पर आतंकी हमला, एक जवान शहीद; किशोर की मौत

घटना को अंजाम देने के बाद नक्सली (Naxals) मौके से भाग निकले। जानकारी के मुताबिक, आमाबेड़ा क्षेत्र के डुवाल गांव में 21 जून की देर शाम लगभग सात बजे गांव में कुवेमारी एरिया कमेटी माकपा माओवादी के 10 से 12 वर्दीधारी नक्सली पहुंचे थे। नक्सलियों (Naxalites) ने ग्रामीण सिंगराय कोरोटी को घर से बाहर निकालकर अपने साथ ले गए। इसके बाद उन्होंने गांववालों को इकट्ठा किया।

बताया जा रहा है कि इसके बाद नक्सलियों ने सिंगराय कोरोटी के हाथ बांध दिए औ आखों पर पट्टी बांधकर लाठी से पिटाई की। सिंगराय कोरोटी पर पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। साथ ही चेतावनी दी कि पुलिस की मुखबिरी करने वालों का यही अंजाम होगा।

यह भी पढ़ें