राजनांदगांव में नक्सलियों का डंप बरामद, जंगल में जगह-जगह बना रखे हैं तहखाने

नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के नार्थ जोन में एक बार फिर नक्सलियों का डंप बरामद हुआ है। नक्सलियों ने इन सामानों को प्लास्टिक के टैंक में भरकर जमीन के भीतर गाड़ रखा था। 26 जुलाई की सुबह सर्चिंग में निकली पुलिस ने डंप जब्त किया। एंटी नक्सल सेल के एएसपी जीएन बघेल ने बताया कि 26 जुलाई की सुबह कौरुवा बेस कैंप से दुतागढ़ इलाके में जिला पुलिस की टीम सर्चिंग के लिए निकली थी तभी जवानों को पहाड़ी में जमीन में गाड़कर रखे गए डंप की जानकारी मिली। जवानों ने डंप को जमीन से बाहर निकाला। टैंक में प्रेशर कूकर, बिजली के तार सहित दवाइयां मौजूद थीं।

इसके पहले नक्सलियों ने एमपी बार्डर में बैनर पोस्टर लगाए थे तब से टीम अलर्ट मोड में है। एएसपी बघेल ने बताया कि इलाके में अब भी सर्च ऑपरेशन जारी है। जानकारी के मुताबिक, साल्हेवारा बकरकट्‌टा इलाके में पुलिस अब तक 15 से अधिक डंप बरामद कर चुकी है। लोकसभा चुनावों के दौरान 14 जगहों से सुरक्षाबल के जवानों ने नक्सलियों के डंप बरामद किए थे। इनमें बड़ी मात्रा में विस्फोटक बनाने का सामान मौजूद था। इसके बाद एक बार फिर पुलिस को नार्थ जोन में नक्सल डंप बरामद करने में सफलता मिली है। सरकार और प्रशासन ने नक्सलवाद को जड़ से खत्म करने के लिए पूरी तरह ठान लिया है।

पढ़ें: भारत का सबसे बड़ा अर्धसैनिक बल, जानिए गठन से लेकर ट्रेनिंग और भर्ती प्रक्रिया के बारे में

इसके लिए नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों के खिलाफ जोर-शोर से अभियान चलाए जा रहे हैं। इन्हीं अभियानों के तहत इससे पहले छत्तीसगढ़ में सुकमा के बीराभट्टी के जंगलों में डीआरजी जवानों ने नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया गया। मारे गए नक्सली का नाम मड़कम हिडमा था। जिस पर एक लाख का इनाम घोषित था। मारे गए नक्सली का शव बरामद कर लिया गया था। घटना स्थल से दो हथियार भी बरामद किए गए।

पढ़ें: तेजी से दौड़ रहा विकास का पहिया, सुस्त पड़ रही नक्सलवाद की रफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here