Chhattisgarh: 17 जवानों की हत्या में शामिल इनामी नक्सली कमांडर गिरफ्तार

एंटी नक्सल ऑपरेशन में छत्तीसगढ़ पुलिस (Chhattisgarh Police) को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। दंतेवाड़ा पुलिस ने 17 पुलिस जवानों की हत्या में शामिल खूंखार नक्सली कमांडर को गिरफ्तार कर लिया।

Naxal Attack

दंतेवाड़ा पुलिस ने 17 पुलिस जवानों की हत्या में शामिल खूंखार नक्सली को गिरफ्तार कर लिया।

एंटी नक्सल ऑपरेशन में छत्तीसगढ़ पुलिस (Chhattisgarh Police) को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। दंतेवाड़ा पुलिस ने 17 जवानों की हत्या में शामिल खूंखार नक्सली नंदा मंडावी को गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने नंदा मंडावी पर 1 लाख का इनाम घोषित कर रखा था। डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (DRG) के जवानों और किरंदुल पुलिस ने संयुक्त अभियान में इनामी नक्सली कमांडर (Naxali Commander) को गिरफ्तार किया।

किरंदुल पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि नक्सली कमांडर नंदा मंडावी गुमियापाल के जंगलों में छिपा हुआ है। किरंदुल पुलिस ने डीआरजी के साथ संयुक्त अभियान के तहत जंगलों से घेराबंदी कर नक्सली (Naxali) नंदा मंडावी को गिरफ्तार कर लिया। नंदा मंडावी कई नक्सली वारदातों (Naxal Attack) में शामिल रहा है।

भगवान बुद्ध की शिक्षा से होगी कोरोना की पराजय: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इन वारदातों में रहा है शामिल:

– 26 जून, 2011 को एस्सार कपंनी के पीछे पटेल रोड पर पुलिस के बोलेरो गाड़ी को बम ब्लास्ट में उड़ाने और अंधाधुध फायरिंग करने की घटना में शामिल था। इस नक्सल हमले (Naxal Attack) में तत्कालीन किरंदुल थाना प्रभारी डीएन नागवंशी सहित 4 जवान शहीद हो गए थे।

– 13 मई, 2012 को थाना किरंदुल एसपी-1 के पास सीआईएसएफ (CISF) के बोलेरो गाड़ी को बम विस्फोट से उड़ाने और अंधाधुध फायरिंग करने की घटना में शामिल था। इस नक्सल हमने में 1 ड्राइवर सहित सीआईएसएफ (CISF) के 6 जवान शहीद हो गए थे।

– 11, नवंबर 2013 को थाना किरंदुल में इलेक्शन कमीशन की टीम से ईवीएम लूटने और उन्हें जान से मारने की नियत से ब्लास्ट करने, फायरिंग करने की घटना में शामिल था।

– 28 मार्च, 2014 को थाना किरंदुल के एस्सार धर्म कांटा के पास पुलिस टीम के वाहन में आग लगाने, ब्लास्ट करने और फायरिंग करने की घटना में इसका था।

– 04 फरवरी, 2018 को ग्राम कड़मपाल डैम के पास निर्माण कार्य में लगे वाहनों और मशीनों को आग के हवाले करने और लूटपाट की घटना में यह नक्सली शामिल था।

– 08 मई, 2018 को ग्राम समलवार में पाइप लाइन बिछाने के कार्य में लगी मशीनों और वाहनों को आग लगाने और क्षतिग्रस्त करने की घटना में इस नक्सली हाथ था।

– 22 मई, 2018 को चोलनार रोड पर पेरपा चैक से आगे पुल के पास पुलिस टीम पर हमले में शामिल था। इस नक्सली हमले (Naxal Attack) में 7 पुलिस जवान शहीद हो गए थे।

– 23 अप्रैल, 2020 को एस्सार के स्क्रीनिंग प्लांट में लगे वाहनों को आग लगाकर लूटपाट करने की घटना में इसका हाथ था।

यह भी पढ़ें