झीरम घाटी हमले में शामिल नक्सली ने किया आत्मसमर्पण, कांग्रेस के कई बड़े नेताओं की हुई थी हत्या

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। बस्तर (Bastar) जिले के झीरम घाटी हमले में शामिल नक्सली कमलू ने सरेंडर कर दिया है।

Jhiram Ghati Naxal Attack

बस्तर (Bastar) जिले के झीरम घाटी हमले (Jhiram Ghati Naxal Attack) में शामिल नक्सली कमलू ने सरेंडर कर दिया है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। बस्तर (Bastar) जिले के झीरम घाटी हमले (Jhiram Ghati Naxal Attack) में शामिल नक्सली कमलू ने सरेंडर कर दिया है। जानकारी के मुताबिक, इस कुख्यात नक्सली लीडर ने ओडिशा के मलकानगिरी में सरेंडर किया है। नक्सली कमलू ने मलकानगिरी एसपी के सामने सरेंडर किया।

Jhiram Ghati Naxal Attack
झीरम घाटी हमले में शामिल नक्सली कमलू ने सरेंडर कर दिया।

पुलिस के अनुसार, यह नक्सली छत्तीसगढ़ और ओडिशा के सीमावर्ती इलाका उसकी ठिकाना था। पुलिस (Police) के मुताबिक, नक्सली लीडर कमलू पर 5 लाख रुपये का इनाम घोषित था। वह ओडिशा और छत्तीसगढ़ सीमा पर ही लंबे समय से सक्रिय था। बताया जा रहा है कि कांगेर घाटी एरिया कमेटी में उसकी खास पकड़ थी।

बता दें कि 22 मई 2013 को छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर (Bastar) जिले के झीरम में हुए हमले (Jhiram Ghati Naxal Attack) में नक्सलियों ने कांग्रेस (Congress) के टॉप लीडर्स की हत्या कर दी थी। इसमें तत्कालीन पीसीसी चीफ नंदकुमार पटेल, विधायक दिनेश पटेल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल, उदय मुदलियार समेत 29 लोग शामिल थे। इस मामले की जांच एनआईए (NIA) कर रही है। प्रदेश की भूपेश बघेल सरकार ने भी मामले की जांच के लिए एसआईटी (SIT) का गठन किया है।

पढ़ें: SSB ने पुलिस के साथ मिलकर महिला नक्सली को दबोचा, लंबे समय से चल रही थी फरार

यह भी पढ़ें