छत्तीसगढ़: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, नक्सलियों के शहरी नेटवर्क का मास्टरमाइंड धराया

कोयलीबेड़ा इलाके में नक्सलियों (Naxals) के लिए सक्रिय रूप से काम करने वाले भाजपा मंडल के पूर्व महामंत्री अरुण ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Naxals

गिरफ्तार अरूण ठाकुर नक्सलियों के लिए ठेकेदारों से लेवी वसूलता था।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कांकेर जिले में पुलिस (Police) को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली है। कोयलीबेड़ा इलाके में नक्सलियों (Naxalites) के लिए सक्रिय रूप से काम करने वाले भाजपा मंडल के पूर्व महामंत्री अरुण ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अरूण ठाकुर को 12 मई को गिरफ्तार किया गया। वह नक्सलियों के लिए ठेकेदारों से लेवी भी वसूलता था। साथ ही ठेकेदारों से मिले सामानों को नक्सलियों (Naxals) तक पहुंचाता था।

नक्सलियों को सामान पहुंचाने के मामले में पहले पकड़े गए शहरी नक्सली सहयोगियों से हुई पूछताछ में सभी ने अरूण कुमार ठाकुर को नक्सलियों का प्रमुख शहरी सहयोगी बताया। जिसके बाद पुलिस ने जांच पड़ताल कर उसे गिरफ्तार किया। जानकारी के मुताबिक, अरूण ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया। बता दें कि अरुण पिछले साल ही कोयलीबेड़ा भाजपा मंडल के महामंत्री पद व भाजपा से इस्तीफा दे दिया था। कोयलीबेड़ा इलाके में नक्सलियों (Naxalites) का शहरी नेटवर्क अरुण ठाकुर के माध्यम से खड़ा किया गया था।

Jammu-Kashmir: पुलवामा में जैश आतंकियों के 4 मददगार गिरफ्तार, आश्रय और साजो-सामान करा रहे थे मुहैया

पुलिस ने सिकसोड़ थानांतर्गत 24 मार्च को नक्सलियों को सामान पहुंचाते ठेकेदार तापस पालिक को पकड़ा था। इसके बाद मामले की जांच में यह बात सामने आई कि अरूण कुमार पिछले कई सालों से नक्सलियों (Naxals) के संपर्क में था। लेकिन कुछ सालों से वह इलाके में काम कर रहे ठेकेदारों से नक्सलियों के लिए वसूली करने में सक्रिय भूमिका निभा रहा था। नक्सलियों से मिली सामानों की पर्ची को ठेकेदार तक पहुंचा उसकी खरीदी करवाता था। किसी कार्य के लिए ठेकेदार और नक्सलियों के बीच मध्यस्थता करता था।

उसका नाम पिछले कुछ सालों से नक्सलियों (Naxals) से जुड़ रहा था। पुलिस उस पर नजर थी। लेकिन पुख्ता सबूत नहीं मिलने के कारण उसे नहीं पकड़ा था। अब पुख्ता सबूत मिलने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार, अरुण ठाकुर ठेकेदारों से मिले सामान कपड़े, जूते, राशन, दवा, बिजली के तार, रोजमर्रा के सामान, पटाखे व बैनर पोस्टर के कपड़ों को अपने कोयलीबेड़ा स्थित घर पर डंप करता था। जिसे मौका मिलने पर अपने स्कार्पियो वाहन से नक्सलियों तक पहुंचाता था।

एएसपी कीर्तन राठौर ने बताया मामले में जांच जारी है। पकड़े गए सभी लोगों से गहन पूछताछ की जा रही है। पकड़ा गया आरोपी अरुण कुमार लंबे समय से नक्सलियों के लिए काम कर रहा था। सभी के रिकार्ड खंगाले जा रहे हैं। बता दें कि अरूण कुमार शुरू से भाजपा व आरएसएस से जुड़ा था। 15 साल पहले कोयलीबेड़ा में वार्ड पंच का चुनाव जीत उपसरपंच चुना गया था। हालांकि बाद में उसने इस्तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ें