अब नक्सली भी करने लगे ड्रोन का इस्तेमाल, सुकमा में सामने आया मामला

आतंकियों के बाद नक्सलियों (Naxalites) ने भी ड्रोन (Drone) को अपना हथियार बना लिया है। अब नक्सलियों द्वारा सुरक्षाबलों के खिलाफ ड्रोन का इस्तेमाल करने का खुलासा हुआ है।

Drone

सांकेतिक तस्वीर

नक्सलियों (Naxalites) द्वारा इन ड्रोन्स का इस्तेमाल इलाकों की रेकी करने और संबंधित क्षेत्रों में सुरक्षाबलों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए किया जा रहा है।

आतंकियों के बाद अब नक्सलियों (Naxalites) ने भी ड्रोन (Drone) को अपना हथियार बना लिया है। जम्मू एयरबेस पर हुए ड्रोन हमले (Drone Attack) के बाद अब नक्सलियों द्वारा सुरक्षाबलों के खिलाफ ड्रोन का इस्तेमाल करने का खुलासा हुआ है। सूत्रों के मुताबिक, अब नक्सली ड्रोन का इस्तेमाल सुरक्षाबलों की रेकी करने के लिए करने लगे हैं।

जानकारी के मुताबिक, 7 जून को सुकमा के दोरनापाल में संदिग्ध ड्रोन देखा गया। इस घटना के बाद हड़कंप मच गया। नक्सली इलाकों (Naxal Area) में सुरक्षा एजेंसियों ने सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया है। माना जा रहा है कि नक्सली ड्रोन का इस्तेमाल करके सुरक्षाबलों की रेकी करने की कोशिश कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ के सीमाई इलाकों में नक्सलियों की सक्रियता बढ़ी, पुलिस हुई चौकन्नी

सूत्रों के अनुसार, संदिग्ध ड्रोन दिखने के बाद मल्टी एजेंसी सेंटर (MAC) में इस बात को लेकर बड़ी बैठक हुई। छत्तीसगढ़ के नक्सल क्षेत्रों में काम करने वाली एजेंसियों के साथ साझा की गई हालिया खुफिया सूचनाओं को इस तथ्य से अवगत कराया गया कि नक्सलियों ने इनपुट के लिए ड्रोन का उपयोग करना शुरू कर दिया है।

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, सुकमा-बस्तर समेत कई इलाकों में नक्सली सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की फिराक में हैं। अब तक ये ड्रोन बुनियादी मॉडल के हैं, जो बाजार में उपलब्ध हैं, लेकिन जब तकनीकी प्रगति की बात आती है तो यह एजेंसियों के लिए चिंता का एक बड़ा कारण है।

ये भी देखें-

सूत्रों के मुताबिक, इन ड्रोन्स का इस्तेमाल इलाकों की रेकी करने और संबंधित क्षेत्रों में सुरक्षाबलों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए भी किया गया है। आगे नक्सली इन ड्रोन्स का इस्तेमाल हमले करने के लिए भी कर सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें