छत्तीसगढ़: सुकमा में कैंप लगाकर नक्सली करवा रहे थे अपना इलाज, सुरक्षाबलों के पहुंचने से पहले ही हो गये फरार

पुलिस अधिक्षक केएल ध्रुव ने कहा कि वहां 40-50 नक्सलियों के होने की सूचना मिली थी। साथ ही यह भी जानकारी थी कि कुछ बीमार नक्सलियों (Naxalites) का इलाज चल रहा है।

Naxalites

Naxalites

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में कोरोना ने नक्सलियों (Naxalites) को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। आलम ये हो गया है कि ये नक्सली अपने इलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं। ऐसा ही एक मामला केरलापाल थाने के तहत देखने को मिला है। जहां पोंगाभेज्जी इलाके में कैंप लगाकर बीमार नक्सलियों का इलाज कराने की सूचनाएं मिली थी।

भारत के हालात से भयभीत अमेरिका, अपने नागरिकों को जल्द से जल्द भारत छोड़ने की अपील की

बीमार नक्सलियों के इलाज की सूचना के बाद डीआरजी और सीआरपीएफ के जवानों का संयुक्त आपरेशन शुरू किया, लेकिन जवानों के आने की भनक नक्सलियों (Naxalites) को लग गई। इसके बाद वे कैंप छोड़कर भाग गए। जवानों ने मौके से एक आइइडी बम बरामद कर उसे निष्क्रिय कर दिया है।

पुलिस के अनुसार, सुकमा जिले के केरलापाल थाना क्षेत्र के पोंगाभेज्जी इलाके में गड़गड़ व बगड़ेगुड़ा की पहाड़ियों में नक्सलियों के होने की लगातार सूचनाएं मिल रही थीं। यहां नक्सलियों (Naxalites) का एक कैंप भी होने की जानकारी मिली थी।

पुलिस अधिक्षक केएल ध्रुव ने कहा कि वहां 40-50 नक्सलियों के होने की सूचना मिली थी। साथ ही यह भी जानकारी थी कि कुछ बीमार नक्सलियों (Naxalites) का इलाज चल रहा है। इसके बाद आपरेशन लांच किया गया था। लेकिन पहुंचने से पहले ही नक्सली वहां से फरार हो गये। हालांकि इस दौरान सुरक्षाबलों ने वहां से एक आईइडी बम बरामद किया, जिसे बाद में बम स्कॉड की टीम ने निष्क्रिय कर दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें