छत्तीसगढ़: बीजापुर में 3 लाख के इनामी नक्सल कमांडर ने किया सरेंडर, इसकी वजह से गई है दर्जनों जवानों की जान

इस खूंखार नक्सली (Naxali) के सरेंडर करने के बाद, उसे 10,000 रुपये की वित्तीय सहायता राशि दी गई और छत्तीसगढ़ सरकार की नीतियों के अनुसार उसका पुनर्वास किया जाएगा।

Naxalites Surrender

सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में तीन लाख रुपये के इनामी नक्सली (Naxali) ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।  35 वर्षीय मंगल कुंजम उर्फ ऊधम सिंह नक्सलियों के भामरगढ़ प्लाटून नंबर सात का सेक्शन कमांडर था और नक्सलियों की खोखली विचारधारा और वरिष्ठ नेताओं के व्यवहार से निराश होकर उसने सरेंडर कर दिया।

जम्मू पुलिस के हत्थे चढ़े आतंकियों के निशाने पर था राम जन्मभूमि, अयोध्या दहलाने की ये थी साजिश

बीजापुर के पुलिस अधीक्षक कामलोचन कश्यप के अनुसार, नक्सली मंगल कुंजम (Naxali) ने नक्सलियों की “खोखली” विचारधारा व गैरकानूनी संगठन के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए अत्याचारों से निराश होने के कारण हथियार डालने का निर्णय लिया है। 

एसपी कामलोचन के अनुसार, नक्सली कुंजम (Naxali) संगठन के भामरगढ़ प्लाटून नंबर सात का सेक्शन कमांडर था और बीजापुर-गढ़चिरौली सीमा पर सक्रिय था। वह 2007 के गढ़चिरौली में हुए हमले सहित कई नक्सली वारदातों में शामिल रहा है, जिसमें 15 सी-60 कमांड़ो मारे गए थे। इसके अलावा 2009 में घात लगाकर किए गए हमले, जिसमें अबुझमाड़ सीमा के पास 17 सुरक्षाकर्मियों की जान चली गई थी, उसमें मंगल की अहम भूमिका थी।

एसपी कामलोचन ने आगे बताया कि इस खूंखार नक्सली (Naxali) के सरेंडर करने के बाद, उसे 10,000 रुपये की वित्तीय सहायता राशि दी गई और छत्तीसगढ़ सरकार की नीतियों के अनुसार उसका पुनर्वास किया जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें