छत्तीसगढ़ नक्सली हमला: CM भूपेश बघेल ने कहा- बेकार नहीं होगा जवानों का बलिदान; राज्य से नक्सलियों का होगा सफाया

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों के कायरतापूर्ण हमले के बाद अब उनपर बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी चल रही है। राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने सोमवार (23 मार्च, 2020) को कहा कि सुरक्षा बलों की शहाद बेकार नहीं जाएगी। उन्होंने आश्वस्त किया कि राज्य से नक्सलियों का पूर्णत: सफाया किया जाएगा।

CM Bhupesh Baghel
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल। (फाइल फोटो)

भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि ‘हमारे जवानों ने नक्सलियों से बहादुरी के साथ लड़ाई की और अपने जीवन का बलिदान दिया। मुझे उनपर काफी ज्यादा गर्व है। जवानों का बलिदान जाया नहीं होगा…यह जंग तब तक जारी रहेगी जब तक की नक्सलियों का खात्मा नहीं हो जाता…ना तो हमारी रणनीति में कोई कमी थी और ना ही हमारा इंटेलिजेंस नाकाम हुआ था…नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर ही हमारे जवान वहां छापेमारी करने पहुंचे थे..लेकिन नक्सली वहां पहाड़ों पर थे और मैदानी इलाकों में…अगर हम पहाड़ पर होते तो उनको काफी नुकसान पहुंचाते…हमारे जवानों ने निडर होकर उनका सामना किया मुझे उनके बलिदान पर गर्व है।’

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने शहीद जवान के परिजनों के प्रति भी अपनी संवेदना जताई। आपको बता दें कि सुकमा जिले के मिन्पा के जंगलों में शनिवार (21 मार्च, 2020) को नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में हमारे 17 जवान शहीद हो गए थे। इन जवानों की लाश रविवार (22 मार्च) को मिली थी।

बेटे की शहादत की खबर सुन मां ने कही ऐसी बात, रो पड़े थाना प्रभारी…

दरअसल इस मुठभेड़ के बाद यह सभी 17 जवान लापता हो गए थे। जिनकी तलाश के लिए 500 से ज्यादा जवानों को घने जंगलों में भेजा गया था। अपने 17 साथियों की लाशों के लिए 500 जवानों घंटों तक जंगल की खाक छानते रहे और फिर बाद में उनकी लाश मिली थी।

इस मुठभेड़ में सुरक्षा बलों के 13 जवान जख्मी भी हुए थे। सुरक्षा बलों को जानकारी थी कि एल्मागुंडा के इलाके में नक्सली जमा हैं जिसके बाद इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया था। एल्मागुंडा राजधानी रायपुर से करीब 450 किलोमीटर दूर स्थित है। इस इलाके में जवानों ने काफी छानबीन की। वहां से लौटते वक्त अचानक करीब 250 की संख्या में छिपे नक्सलियों ने हमारे जवानों पर कायरता पूर्ण हमला शुरू कर दिया था।

सोमवार को इन जवानों को पुष्प अर्पित करने के बाद सीएम ने राज्य के गृहमंत्री तमराध्वज साहू और सुरक्षा से जुड़े अहम अधिकारियों के साथ एक मीटिंग भी की। इस बैठक में नक्सलियों के खिलाफ ठोस रणनीति बनाने पर चर्चा की गई। जिसके बाद यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि अब सरकार जल्दी ही नक्सलियों के खिलाफ किसी निर्णायक जंग को लेकर माकूल निर्णय ले सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here