छत्तीसगढ़: कांकेर में पुलिस मुखबिरी का आरोप लगा नक्सलियों ने की ग्रामीण की हत्या, गांव वालों को धमकाया

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल ग्रस्त कांकेर जिले के आमाबेड़ा क्षेत्र में नक्सलियों (Naxalites) ने जन अदालत लगाकर एक ग्रामीण की हत्या कर दी। नक्सलियों ने इस ग्रामीण पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया है।

Naxalites

सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल ग्रस्त कांकेर जिले के आमाबेड़ा क्षेत्र में नक्सलियों (Naxalites) ने जन अदालत लगाकर एक ग्रामीण की हत्या कर दी। नक्सलियों ने इस ग्रामीण पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया है। उसकी हत्या कर शव को गांव के पास ही फेंक दिया था। घटना को अंजाम देने के बाद नक्सली (Naxals) मौके से भाग निकले।

जानकारी के मुताबिक, आमाबेड़ा क्षेत्र के डुवाल गांव में 21 जून की देर शाम लगभग सात बजे गांव में कुवेमारी एरिया कमेटी माकपा माओवादी के 10 से 12 वर्दीधारी नक्सली पहुंचे थे। नक्सलियों (Naxalites) ने ग्रामीण सिंगराय कोरोटी को घर से बाहर निकालकर अपने साथ ले गए। इसके बाद उन्होंने गांववालों को इकट्ठा किया।

गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल – जिसने मिसाइलों के बीच घायल जवानों को किया था एयरलिफ्ट

बताया जा रहा है कि इसके बाद नक्सलियों ने सिंगराय कोरोटी के हाथ बांध दिए औ आखों पर पट्टी बांधकर लाठी से पिटाई की। सिंगराय कोरोटी पर पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। साथ ही चेतावनी दी कि पुलिस की मुखबिरी करने वालों का यही अंजाम होगा।

हत्या के बाद नक्सलियों (Naxalites) ने शव के पास नक्सली पर्चे भी फेंके। इस पर पर्चे पर भी सिंगराय पर नक्सली मुखबिर होने का आरोप लगाया गया है। इसके बाद सिंगराय के शव को गांव के बाहर ही छोड़कर नक्सली मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस (Police) ने नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दिया है।

बता दें कि डुवाल गांव पहाड़ी के ऊपर बसा हुआ गांव है। इसलिए इस इलाके में अक्सर नक्सली (Naxali) अपनी मौजूदगी दर्ज कराते रहते हैं। बारिश के मौसम में इस इलाके में नक्सल ऑपरेशन में जवानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। वहां पहुंचने के लिए भी रास्ता बहुत मुश्किल है और नक्सली (Naxalites) इसका फायदा उठाकर इस तरह की वारदातों को अंजाम देते हैं।

यह भी पढ़ें