छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, नक्सलियों की साजिश नाकाम

सुरक्षाबलों ने राज्य के गर्दापाल के जंगलों से हथियारों का बड़ा जखीरा बरामद किया है। नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम देने के मकसद से हथियारों के इस जखीरे को जंगल के एक टैंक में छिपा रखा था।

ITBP, search operation, busted naxal hideout, Kondagaon, naxal, Chhattisgarh, weapon, Pistol, explosive, IED, ammunition, sirf sach, sirfsach.in

छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में नक्‍सलियों के खिलाफ अभियान चला रहे आईटीबीपी  के सुरक्षाबलों ने राज्य के गर्दापाल के जंगलों से हथियारों का बड़ा जखीरा बरामद किया है।

छत्तीसगढ़ में नक्‍सलियों के खिलाफ अभियान चला रहे आईटीबीपी  के सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने राज्य के गर्दापाल के जंगलों से हथियारों का बड़ा जखीरा बरामद किया है। नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम देने के मकसद से हथियारों के इस जखीरे को जंगल के एक टैंक में छिपा रखा था। नक्‍सली अपने इरादों में सफल हो पाते, इससे पहले ही आईटीबीपी के जवानों ने हथियार जब्‍त कर नक्‍सलियों के मंसूबों को नाकाम कर दिया। इस कामयाबी के बाद आईटीबीपी का सर्च ऑपरेशन गर्दापाल के जंगलों में जारी है।

आईटीबीपी के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, उन्‍हें खुफिया जानकारी मिली थी कि छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिले के गर्दापाल के घने जंगलों में नक्‍सलियों की गतिविधि देखी गई है। इस गुप्त सूचना के आधार पर आईटीबीपी के जवानों ने गर्दापाल के जंगलों में सर्च ऑपरेशन शुरू किया। इधर, आईटीबीपी के जवानों के सर्च ऑपरेशन की भनक लगते ही नक्‍सली मौके से भाग खड़े हुए। हालांकि, आईटीबीपी के जवान नक्‍सलियों द्वारा एकत्रित किए गए हथियार और विस्‍फोटक को खोजने में कामयाब रहे। यह ऑपरेशन आई़टाबीपी की 41वीं बटालियन के जवानों ने किया।

बता दें कि इससे पहले नक्सल विरोधी अभियान चला रहे झारखंड पुलिस को एक कामयाबी मिली थी। टीएसपीसी के जोनल कमांडर कबीर गंजू, उसके सहयोगी सहित नक्सल संगठन का एक सक्रिय सदस्य सेठा गंझू 30 मई को गिरफ्तार किया गया। टीएसपीसी के जोनल कमांडर की निशानदेही पर एके-56 और एके-47 सहित भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किया गया था। चतरा पुलिस ने नक्सली संगठन टीएसपीसी के जोनल कमांडर किशोर उर्फ कबीर गंझू को गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर भारी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं।

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि टीएसपीसी का जोनल कमांडर कबीर गंझू टंडवा थाना क्षेत्र के बोंगागढ़ा गांव में आया हुआ है। वह किसी घटना को अंजाम देने की रणनीति बना रहा है। इस सूचना के आधार पर एएसपी निगम प्रसाद, सीआरपीएफ के अधिकारी अजय कुमार और टंडवा के एसडीपीओ आशुतोष कुमार सत्यम के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया।

इस टीम ने 30 मई की रात बोंगागढ़ा गांव में छापेमारी कर कबीर गंझू और उसके सहयोगी गेंदलाल गंझू उर्फ फालो गंझू को गिरफ्तार किया। वहीं, 1 जून को देर रात माओवादी संगठन के एक सदस्य के गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार, खुफिया जानकारी के आधार पर कुंदा पुलिस ने माओवादी संगठन के पूर्व सक्रिय सदस्य सेठा गंझू उर्फ सेन जी को गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें: वतन की हिफाजत की खातिर दिया बलिदान, पीढ़ियां याद रखेंगी उनके शौर्य की दास्तान

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App