दंतेवाड़ा: नक्सलियों के लिए खरीदा था ट्रैक्टर, पुलिस के हत्थे चढ़े दो नक्सली समर्थक

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा जिले में पुलिस (Police) ने दो नक्सली समर्थकों (Naxali Associates) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 14 जून को यह जानकारी दी।

Naxali Associates

दंतेवाड़ा से गिरफ्तार नक्सली समर्थक।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा जिले में पुलिस (Police) ने दो नक्सली समर्थकों (Naxali Associates) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 14 जून को यह जानकारी दी। दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव के मुताबिक, आरोपियों की पहचान जगत पुजारी और रमेश उसेंडी के रूप में हुई है, जिन्हें 13 जून (शनिवार) को गिरफ्तार किया गया था।

नक्सली समर्थकों (Naxali Associates) ने एक नक्सलियों (Naxals) को देने के लिए एक ट्रैक्टर खरीदा था। एसपी के अनुसार, खुफिया सूचना मिली थी कि अबूझमाड़ क्षेत्र से कुछ नक्सलियों (Naxalites) ने माओवादियों की इंद्रावती क्षेत्र समिति में सक्रिय मिलिशिया कमांडर-इन-चीफ अजय आलमी को कुछ चीजें खरीदने के लिए पैसे दिए हैं। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की। पुजारी सहित कुछ संदिग्धों पर नजर रखी गई।

Coronavirus: भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 3 लाख 32 हजार के पार, 9,520 लोगों की मौत

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, शनिवार दोपहर बाद पुलिस ने बारसूर-चित्रकोट मार्ग पर एक नयी खरीदी गई ट्रैक्टर ट्रॉली को देखा और पड़ोसी नारायणपुर जिले में ओरछा क्षेत्र के रहने वाले उसेंडी को उस समय पकड़ा जब वह नक्सलियों को वाहन देने के लिए कथित तौर पर जा रहा था। पूछताछ के दौरान उसेंडी ने बताया कि माओवादी आलमी ने एक ट्रैक्टर खरीदने के लिए उसे चार लाख रुपये दिये थे और उससे कहा गया था कि पुजारी इस काम में उसकी मदद करेगा।

इसके बाद पुजारी को बारसूर से गिरफ्तार किया गया। पुजारी पिछले 10 साल से नक्सलियों (Naxalites) को माल की आपूर्ति कर रहा था। वह नियमित रूप से उनसे मिलता था और ग्रामीणों की मदद से उन्हें माल की आपूर्ति करता था। डॉ. पल्लव के अनुसार, उनके खिलाफ छत्तीसगढ़ विशेष जन सुरक्षा अधिनियम, 2005 के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि माओवादियों को लॉकडाउन के बाद से राशन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें