छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने रेलवे को बनाया निशाना, 4 घंटे के भीतर दो मालगाड़ियों को लूटा

Naxalites

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में एक बार फिर नक्सलियों (Naxalites) ने उत्पात मचाया है।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में एक बार फिर नक्सलियों (Naxalites) ने उत्पात मचाया है। इस बार नक्सलियों ने रेलवे को निशाना बनाया। गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले 25 जनवरी की शाम से रात तक दो अलग-अलग जगहों पर नक्सली मालगाड़ी रोक कर उसके चालक और गार्डों से वॉकी-टॉकी और मोबाइल समेत अन्य सामान छीन ले गए।

Naxalites
सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में एक बार फिर नक्सलियों (Naxalites) ने उत्पात मचाया है। इस बार नक्सलियों ने रेलवे को निशाना बनाया। गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले 25 जनवरी की शाम से रात तक दो अलग-अलग जगहों पर नक्सली मालगाड़ी रोक कर उसके चालक और गार्डों से वॉकी-टॉकी और मोबाइल समेत अन्य सामान छीन ले गए। इसको लेकर रेलवे की ओर से 26 जनवरी शाम को केस दर्ज कराया गया। घटना बचेली और कमालूर रेलवे स्टेशन के पास हुई।

4 घंटे के भीतर दो मालगाड़ियों को लूटा

जानकारी के अनुसार, 25 जनवरी की शाम करीब 6.30 बजे बचेली रेलवे स्टेशन से निकली मालगाड़ी को 12 से 15 हथियारबंद नक्सलियों (Naxalites) ने रास्ते में रेलवे ट्रैक पर बैनर लगाकर रोक लिया। इसके बाद लोको पायलट के साथ गार्ड को ट्रेन से नीचे उतार दिया और उनसे वॉकीटॉकी और मोबाइल लूट लिया। इसके बाद उनके हाथों में पोस्टर थमाकर जंगल की ओर भाग निकले। इस घटना के करीब 4 घंटे बाद रात 10.30 बजे नक्सलियों (Naxalites) ने कमालूर रेलवे स्टेशन के पास एक और मालगाड़ी को रोक लिया। इस मालगाड़ी के भी लोको पायलट और गार्ड से मोबाइल, टॉर्च और वॉकी-टॉकी लूटकर भाग गए। दोनों माल गाड़ियां किरंदुल से विशाखापट्टनम लौह अयस्क लेकर जा रही थी।

आगामी पंचायत चुनाव का नक्सली कर रहे हैं बहिष्कार

रेलवे चालक को थमाए गए पर्चों में नक्सलियों (Naxalites) ने पंचायत चुनाव का बहिष्कार, नक्सली विचारधारा को मजबूत करने सहित भाजपा और कांग्रेस की सरकार को महिलाओं पर अत्याचार करने वाला बताया है। दोनों ही इलाका भांसी थाना क्षेत्र में आता है। इस घटना की पुष्टि दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने की है। बता दें कि छत्तीसगढ़ में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के विरोध में नक्सली लगातार ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। हालांकि पुलिस और सुरक्षाबल इनपर पैनी नजर रखे हुए है।

पढ़ें: गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार शामिल हुआ पूर्व नक्सली, लगाया ‘लोकतंत्र अमर रहे’ का नारा…

यह भी पढ़ें