दंतेवाड़ा: सर्चिंग के दौरान प्रेशर बम की चपेट में आने से 2 जवान घायल, नक्सली कैंप से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में नक्सलियों (Naxalites) के खात्मे के लिए सुरक्षाबल लगातार एंटी नक्सल ऑपरेशन चला रहे हैं। नक्सल प्रभावित इलाकों में लोगों के बीच ‘आम्चो बस्तर, आम्चो पुलिस’ अभियान में तेजी लाई गई है।

Naxalites

विस्फोट में घायल जवान।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में नक्सलियों (Naxalites) के खात्मे के लिए सुरक्षाबल लगातार एंटी नक्सल ऑपरेशन चला रहे हैं। नक्सल प्रभावित इलाकों में लोगों के बीच ‘आम्चो बस्तर, आम्चो पुलिस’ अभियान में तेजी लाई गई है, जिसका परिणाम भी अब आने लगा है। ग्रामीण लगातार पुलिस को नक्सलियों (Naxals) की सूचना दे रहे हैं।

ताजा मामला दंतेवाड़ा जिले के मरजुम और किलेपाल का है, जहां नक्सलियों (Naxalites) के अस्थाई कैम्प की सूचना पुलिस को मुखबिर से मिली। सूचना मिलने के बाद दंतेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने डीआरजी (डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड) की टीम को ऑपरेशन पर भेजा। इस ऑपरेशन में डीआरजी (DRG) की टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी।

झारखंड: रांची के बुढ़मू में नक्सली कमांडर मोहन यादव की गोली मारकर हत्या

जवानों ने नक्सलियों के कैम्प से 5-5 किलो के 3 आईईडी (IED) बरामद किया। कैम्प में मौजूद नक्सली (Naxali) पुलिस को आता देख वहां से भाग निकले। जिसके बाद जवानों ने आस-पास के इलाके की सर्चिंग की। सर्चिंग के बाद वापस लौट रहे जवानों को एक और कामयाबी तब मिली, जब उन्होंने किलेपाल के जंगल से 3नाग टिपिन बम भी बरामद किया।

हालांकि, सर्चिंग के दौरान एक प्रेशर बम ब्लास्ट हो गया। इस विस्फोट की चपेट में आने से 2 जवान घायल हो गए। दोनों जवानों को हल्की चोटें आई हैं। उन्हें तत्काल इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।

 

बता दें कि बस्तर में नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने जोरदार अभियान चला रखा है। इलाके से नक्सलियों के पांव उखड़ने की कागार पर हैं। सुरक्षाबलों द्वारा लगातार किए जा रहे प्रहार से नक्सली घबरा गए हैं। बस्तर में वे अपने आखिरी दिन गिर रहे हैं।

यह भी पढ़ें