छत्तीसगढ़: नक्सलियों के गढ़ में घुसकर उनका खात्मा करेगी CRPF

छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल प्रभावित दक्षिणी बस्तर क्षेत्र में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) नक्सल विरोधी अभियान तेज करेगा। बता दें कि सीआरपीएफ (CRPF) राज्य में नक्सल मोर्चे पर तैनात सुरक्षाबलों की मुख्य इकाई है।

Anti Naxal Operation

फाइल फोटो।

छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल प्रभावित दक्षिणी बस्तर क्षेत्र में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) नक्सल विरोधी अभियान तेज करेगा। बता दें कि सीआरपीएफ (CRPF) राज्य में नक्सल मोर्चे पर तैनात सुरक्षाबलों की मुख्य इकाई है। इस बल ने बीजापुर और सुकमा के अति नक्सल प्रभावित इलाकों और वहां के जंगलों में नक्सलियों के खिलाफ विशेष अभियान की शुरुआत की है।

CRPF
CRPF राज्य में नक्सल मोर्चे पर तैनात सुरक्षाबलों की मुख्य इकाई है।

सीआरपीएफ (CRPF) के महानिदेशक एपी माहेश्वरी ने 12 फरवरी को राज्य का दौरा करने के बाद  एंटी-नक्सल अभियान की समीक्षा की। गौरतलब है कि सप्ताह की शुरुआत में एक अभियान के दौरान नक्सलियों से मुठभेड़ में सीआरपीएफ (CRPF) की विशेष इकाई कोबरा के दो कमांडोज शहीद हो गए थे। इसी को लेकर महानिदेशक ने यह दौरा किया था। वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, एपी माहेश्वरी ने राज्य के अधिकारियों के साथ समन्वय कर अभियान को तेज करने की बात कही।

यह भी पढें- नस्लों को निखार रही CRPF
नक्सलियों के गढ़ में घुसकर होगा उनका खात्मा

उन्होंने कोबरा और सीआरपीएफ (CRPF) की अन्य इकाइयों से नक्सलियों के गढ़ में घुसकर उन्हें खत्म करने का आह्वान किया। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि किसी आम नागरिक को कोई नुकसान नहीं होना चाहिए। सीआरपीएफ (CRPF) राज्य पुलिस के साथ मिलकर नक्सलियों की खूंखार बटालियन पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) पर भी कार्रवाई की योजना बना रहा है। राज्य में नक्सल उन्मूलन के लिए सुरक्षाबलों का संयुक्त अभियान जारी रहेगा। महानिदेशक ने वीरता और पेशेवर जज्बे के लिए सैनिकों की सराहना की और उन्हें सलाम किया।

व्यर्थ नहीं गई किसी भी सैनिक की कुर्बानी 

सीआरपीएफ (CRPF) के महानिदेशक ने कहा कि हमारे किसी भी सैनिक की कुर्बानी व्यर्थ नहीं गई है। एक सच्चा सैनिक अपना मिशन पूरा करने के लिए हमेशा प्रतिबद्ध होता है। शहीद जवानों ने मिशन को पूरा करने में अपने जीवन का जो बलिदान दिया है, उसी पर खुशहाली की बुनियाद एक दिन बस्तर में खड़ी होगी। उन्होंने कहा कि शहीदों के परिवारों के प्रति सीआरपीएफ हमेशा ही पूरी तरह जिम्मेदारी का निर्वहन करती रही है। उनकी अच्छी तरह से देखभाल हो, यह सुनिश्चित किया जाता है। घायलों को बेहतरीन चिकित्सा सुविधा दी जा रही है। उनके पुनर्वास की प्रक्रिया भी चल रही है।

पढ़ें: कश्मीर पर एस जयशंकर ने अमेरिकी सीनेटर को लिया आड़े हाथों, कहा- चिंता मत कीजिए, एक लोकतांत्रिक देश इसे सुलझा लेगा

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें