छत्तीसगढ़: बीजापुर में इनामी महिला नक्सली सहित दो वारंटी गिरफ्तार

पुलिस ने जिले से एक लाख की इनामी महिला नक्सली (Woman Naxali) समेत जनताना सरकार के अध्यक्ष को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। पकड़े गए दोनों नक्सलियों (Naxalites) से पूछताछ के बाद उन्हें न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया।

Naxali

सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित बीजापुर (Bijapur) जिले में चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान के तहत 1 जून को पुलिस (Police) को कामयाबी हाथ लगी। पुलिस ने जिले से एक लाख की इनामी महिला नक्सली (Woman Naxali) समेत जनताना सरकार के अध्यक्ष को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। पकड़े गए दोनों नक्सलियों (Naxalites) से पूछताछ के बाद उन्हें न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया।

जिले के एसपी कमलोचन कश्यप के मुताबिक, 1 जून को नक्सलियों (Naxals) का पता लगाने के लिए थाना भैरमगढ़ से जिला बल, डीआरजी की संयुक्त पार्टी ग्राम हिंगुम, इदेर की ओर सर्चिंग पर निकली थी। सर्चिंग के दौरान हिंगुम के जंगल में पंहुचते ही पुलिस को देख संदिग्ध अवस्था में भागते हुए एक महिला और एक पुरुष को घेराबंदी कर पकड़ा गया।

मध्य प्रदेश: बालघाट में बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में नक्सली, विस्फोटक सामग्री बरामद

दोनों से पूछताछ करने पर महिला ने अपना नाम कोपे फरसा बताया। उसने बताया कि वह एलओएस की सक्रिय सदस्य है। वहीं पुरूष ने अपना नाम मंगलू फरसा बताते हुए खुद को जनताना सरकार का अध्यक्ष बताया। एसपी के अनुसार, दोनों नक्सलियों के विरुद्ध जांगला थाने में स्थायी वारंट लंबित पाया गया है।

दोनों सक्रिय नक्सलियों (Naxalites) को गिरफ्तार कर रिमांड पर न्यायालय में पेश किया गया। गिरफ्तार नक्सली एलओएस सदस्य कोपे फरसा पर छत्तीसगढ़ शासन द्वारा एक लाख रुपए एवं मंगलू फरसा पर थाना जांगला में पंजीबद्ध दो अपराधों में एक-एक हजार का ईनाम घोषित किया गया था।

बता दें कि राज्य में नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का अभियान जारी है। नक्सलियों (Naxals) के सफाया के लिए जवान कमर कस चुके हैं। उनकी धर-पकड़ के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। साथ ही जंगली इलाकों में सर्च अभियान चलाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में राज्य के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में 2 जून की सुबह नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक नक्सली (Naxali) को मार गिराया। इस नक्सली पर 8 लाख रुपए का इनाम था।