छत्तीसगढ़: बीजापुर में नक्सलियों ने की सहायक आरक्षक की हत्या, मां-बाप पर भी किया हमला

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) में नक्सलियों (Naxals) ने एक जवान की निर्ममता से हत्या कर दी। 1 जुलाई की रात 10 बजे नक्सलियों ने इस कायराना करतूत को अंजाम दिया।

Naxali Commander

सांकेतिक तस्वीर।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) में नक्सलियों (Naxals) ने एक जवान की निर्ममता से हत्या कर दी। 1 जुलाई की रात 10 बजे नक्सलियों ने इस कायराना करतूत को अंजाम दिया। नक्सलियों ने सहायक आरक्षक सोमारू पोयाम की तीर और धारदार हथियार (टंगिये) से हमला कर हत्या कर दी है।

इस दौरान बीच-बचाव करने आए जवान के माता-पिता पर भी नक्सलियों ने तीरों से वार किए। जिससे सोमारू पोयाम के माता-पिता भी बुरी तरह घायल हो गए। घटना जांगला थाना क्षेत्र की है। सोमारू पोयाम फरसेगढ़ में सहायक आरक्षक के पद पर पोस्टेड थे। बताया जा रहा है कि वे मेडिकल लीव पर घर आए थे।

Jharkhand: तमाड़ में नक्सलियों ने पोस्टरबाजी कर हत्या की जिम्मेदारी ली

वारदात की सूचना मिलने के बाद 2 जुलाई की सुबह पुलिस (Police) मौके पर पहुंची। बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप के मुताबिक, सहायक आरक्षक सोमारू पोयाम को 6 तीर और सिर के पीछे हिस्से में टंगिये से मारकर हत्या की गई है। जानकारी के मुताबिक, जांगला के मतवाड़ा निवासी सोमारू पोयाम फरेसगढ़ थाने में सहायक आरक्षक के पद पर तैनात थे। वह इन दिनों मेडिकल लीव पर आए थे।

इसकी सूचना नक्सलियों (Naxalites) को मिली तो 1 जुलाई की रात करीब 10 बजे 50 से 60 की संख्या में बंदूक, तीर-धनुष समेत अन्य हथियार लेकर पहुंच गए। रात को दरवाजा खुलवाया और धक्का देते हुए नक्सली (Naxals) घर में घुस गए। उस समय जवान सोने की तैयारी कर रहा था।

बिस्तर से उठते ही नक्सलियों ने जवान के ऊपर तीरों और टंगिया से हमला कर दिया। इस दौरान जवान के माता-पिता बीच-बचाव करने के लिए पहुंचे तो उन पर भी तीरों से हमला किया गया। जवान के शरीर में 6 तीर लगे हैं। इस हमले में जवान की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, माता-पिता दोनों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें