छत्तीसगढ़: बीजापुर में CRPF ने 1 लाख के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया

naxalite prize money of Rs 1 lakh arrested in Bijapur, 3 not 3 rifles recovered, Chhattisgarh, Naxal, छत्तीसगढ़, बीजापुर में नक्सली गिरफ्तार, सीआरपीएफ, रायफल, CRPF, सिर्फ सच, sirf sach, sirfsach.in
बीजापुर में 1 लाख का इनामी नक्सली गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सीआरपीएफ (CRPF)ने 18 सितंबर की रात को 1 लाख रुपये के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया। जानकारी के अनुसार, एरिया डोमिनेशन पर निकले जवानों ने नक्सलियों के मिलिशिया कमांडर गणेश तेलम को गिरफ्तार किया है। आरोपी नक्सली के पास से हथियार भी बरामद किए गए हैं। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, बीजापुर के मोदकपाल थाना क्षेत्र में सीआरपीएफ की एक टीम एरिया डोमिनेशन के लिए निकली थी। इसी दौरान भोगला गांव में एक व्यक्ति संदिग्ध नजर आया। जिसके बाद जवानों ने उसे गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार नक्सली के पास से 3 नॉट 3 रायफल बरामद हुई।

नक्सली गणेश तेलम नक्सल हिंसा के कई वारदातों में शामिल रह चुका है। पुलिस पार्टी पर हमला, वाहनों में आगजनी, ग्रामीणों को धमकी, हत्या जैसे कई मामलों में पुलिस को इसकी तलाश थी। इससे पहले नक्सल ग्रस्त धमतरी में सर्चिंग पर निकली डीआरजी की टीम ने कट्टीगांव और खालसाबुडरा जंगल से सीतानदी एरिया कमिटी के एक माओवादी सदस्य को गिरफ्तार किया। जानकारी के अनुसार, थाना बोरई और डीआरजी की पुलिस टीम नक्सल सर्चिंग अभियान के तहत थाना बोरई क्षेत्र के कट्टीगांव खालसाबुड़रा के जंगलों की ओर निकली थी। इसी दौरान कट्टीगांव खालसाबुडरा के जंगलों में एक संदिग्ध व्यक्ति पुलिस टीम को देखकर भागने लगा। पुलिस ने उसे घेराबंदी कर पकड़ लिया। पकड़े गए व्यक्ति की पहचान प्रतिबंधित माओवादी संगठन सीतानदी एरिया कमिटी के सदस्य रामु उर्फ राम्यू वेक्यो के रूप मे की गई।

पुलिस के अनुसार, यह नक्सली साल 2013 में मिरतुर दलम माओवादी संगठन से जुड़कर मिरतुर क्षेत्र में नक्सलियों के लिए काम कर रहा था। इसके बाद उसने साल 2015 में नक्सली संगठन सीतानदी एरिया कमिटी के सक्रिय सदस्य के रूप में काम किया। यह नक्सली सितंबर, 2015 में देवडोगरी पहाड़ी के पास टिफिन बम लगाने में, नवंबर, 2015 में आमझर गांव के जंगल के पास पुलिस पार्टी पर जानलेवा हमला करने में, सितंबर, 2017 में जोगीबिरदो में हत्या, सितंबर, 2018 में कारीपानी में टिफिन बम लगाने, जून, 2019 में कट्टीगांव पुलिस मुठभेड़ और जुलाई, 2019 में संतबाहरा के जंगल में हुए पुलिस नक्सली मुठभेड़ की घटनाओं में शामिल था।

पढ़ें: इमरान खान की बेचैनी बढ़ी, पाकिस्तानियों को कश्मीर नहीं जाने के लिए चेताया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here