बस्तर में बीजेपी का चेहरा रहे भीमा मंडावी का सियासी सफर

BJP MLA Bheema Mandavi, Bheema Mandavi killed in naxal attack in Dantewada, भाजपा विधायक भीमा मंडावी, BJP MLA Bhima Mandavi, Dantewada naxal attack, bastar naxal attack, bastar loksabha election 2019

बस्तर के इकलौते बीजेपी विधायक भीमा मंडावी की नक्सल हमले में मौत हो गई है। नक्सलियों ने हमला उस वक्त किया, जब वो चुनावी सभा को संबोधित कर वापस लौट रहे थे। उसी वक्त इनके काफिले की एंटी लैंडमाइन व्हीकल को आईईडी ब्लास्ट से नक्सलियों ने उड़ा दिया। इस हमले में 4 जवान भी शहीद हुए हैं।

बस्तर में बीजेपी की पहचान थे भीमा मंडावी

भीमा मंडावी विधानसभा में भाजपा विधायक दल के उपनेता थे। मंडावी दूसरी बार विधायक चुने गए थे। दंतेवाड़ा जिले के गदापाल निवासी मंडावी 2008 में विधायक चुने गए थे। 2013 का विधानसभा चुनाव वो देवती कर्मा से हार गए थे, लेकिन 2018 में पार्टी ने फिर से उन्हें टिकट दिया। इस बार उन्होंने देवती कर्मा को 2071 वोट से मात दी थी। भीमा को कुल 37 हजार 744 वोट मिले थे, जबकि देवती को 35 हजार 673 वोट। 2002 में स्नातक की डिग्री हासिल करने वाले भीमा पेशे से किसान थे। भीमा के परिवार में माता-पिता और पत्नी ओजस्वी मंडावी के अलावा एक पुत्र खिलेंद्र मंडावी है।

उल्लेखनीय है कि भीमा मंडावी बस्तर संभाग से भाजपा की टिकट पर अकेले जीतने वाले थे। इसी कामयाबी के बाद उन्हें इस बार विधानसभा में उपनेता बनाया गया था। वो लंबे वक्त तक विश्व हिंदू परिषद से भी जुड़े रहे और भाजपा के आदिवासी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी थे।

यह भी पढ़ेंः खौफ के साए में जी रहा पुलवामा शहीद का परिवार, दबंगों से मिल रही धमकियां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here