छत्तीसगढ़: बस्तर के जंगलों में गश्त के दौरान सुरक्षाबलों के हत्थे चढ़ा इनामी नक्सली

केन्द्रीय सुरक्षा बल (CRPF), डीआरजी (DRG) और जिला बल के जवान कटेकल्याण थाने से गस्त पर निकले थे। मुखबिर की सूचना पर नक्सली हिड़मा पोडियामी को सुरक्षाबलों ने कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल, तेलम, टेटम के जंगलों से घेराबंदी कर गिरफ्तार किया।

Naxals

नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत छत्तीसगढ़ के बस्तर से 1 लाख के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया गया।

नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत छत्तीसगढ़ के बस्तर से 1 लाख के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार, केन्द्रीय सुरक्षा बल (CRPF), डीआरजी (DRG) और जिला बल के जवान कटेकल्याण थाने से गश्त पर निकले थे। मुखबिर की सूचना पर नक्सली को सुरक्षाबलों ने कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल, तेलम, टेटम के जंगलों से घेराबंदी कर गिरफ्तार किया।

Naxals
बस्तर से गिरफ्तार इनामी नक्सली हिड़मा पोडियामी।

नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत छत्तीसगढ़ के बस्तर से 1 लाख के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार नक्सली का नाम नक्सली हिड़मा पोडियामी है। वह जनमिलिशिया कमांडर है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, केन्द्रीय सुरक्षा बल (CRPF), डीआरजी (DRG) और जिला बल के जवान कटेकल्याण थाने से गश्त पर निकले थे। मुखबिर की सूचना पर नक्सली हिड़मा पोडियामी को सुरक्षाबलों ने कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल, तेलम, टेटम के जंगलों से घेराबंदी कर गिरफ्तार किया। कमांडर हिड़मा पर IED ब्लास्ट करने, नक्सलियों की मीटिंग बुलाने, उनके लिए रसद और अन्य सामान की व्यवस्था करने जैसे काम करता था।

जानकारी के मुताबिक, कटेकल्याण थाने में इसके विरूद्व कई मामले दर्ज हैं। गिरफ्तार नक्सली से पूछताछ जारी है। राज्य में नक्सलियों (Naxals)की नकेल कसने के लिए प्रशासन और सुरक्षाबल मुस्तैदी से लगे हुए हैं। लगातार नक्सलियों की गिरफ्तारी हो रही है। इससे पहले, सुकमा जिले में पुलिस ने चार नक्सलियों (Naxals) को गिरफ्तार किया था। जिले के धुर नक्सल ग्रस्त चिंतलनार थाना क्षेत्र में सर्चिंग के दौरान सुरक्षाबल के जवानों ने इन्हें गिरफ्तार करने में सफलता पाई थी। गिरफ्तार नक्सलियों के नाम मड़कम कोसा, मड़कम जोगा, माड़वी जोगा और बारसे देवा है। गिरफ्तार किए गए चारों नक्सलियों (Naxals) पर पुलिस की टीम पर हमला करने का आरोप है।

इसके अलावा गांव वालों में नक्सलवाद का खौफ फैलाने का भी आरोप इन नक्सलियों पर है। सुकमा के एसपी शलभ सिन्हा के अनुसार, गिरफ्तार किए गए चारों आरोपी नक्सलियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। चारों गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) पर सुकमा और आस-पास के इलाकों में पुलिस पार्टी पर हमला करने और वाहनों में आगजनी करने सहित कई मामले दर्ज हैं। पुलिस को लंबे समय से इनकी तलाश थी।

पढ़ें: देश भर में हो रही इस नक्सलग्रस्त इलाके की चर्चा, पीएम मोदी ने भी दी शाबाशी, जानें क्या है कारण…

यह भी पढ़ें