बोडो शांति समझौते के बाद ULFA(I) से बातचीत को तैयार सरकार, असम के मंत्री का ऐलान

ULFA

Centre ready to hold peace talks with ULFA(I): Himanta II Photo Credit:- @himantabiswa

बोडो शांति समझौते पर हस्ताक्षर होने के एक दिन बाद असम के वरिष्ठ मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने कहा कि केंद्र सरकार ULFA(I) गुट के साथ शांति वार्ता के लिए तैयार है। पूर्वोत्तर में ‘स्थायी शांति’ के लिए उन्होंने ULFA(I) गुट के नेता परेश बरुआ से बातचीत के लिए आगे आने की अपील की।

ULFA

Centre ready to hold peace talks with ULFA(I): Himanta II Photo Credit:- @himantabiswa

पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (नेड़ा) के संयोजक सरमा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को स्पष्ट रूप से कहा था कि अगर ULFA(I) गुट वार्ता के लिए तैयार है तो असम और पूर्वोत्तर में स्थायी शांति के लिए केंद्र बातचीत को उनसे कहीं अधिक इच्छुक है।’

CAA विरोध के दौरान हिंसा के तार PFI से जुड़े, उपद्रवियों को आर्थिक मदद देने का आरोप

असम के वरिष्ठ मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने कहा‚ ‘यह पहली बार है कि सरकार ULFA(I) से वार्ता के लिए सार्वजनिक अपील कर रही है। यदि वे वार्ता के इच्छुक हैं तो केंद्र, असम और पूर्वोत्तर में स्थायी शांति की इच्छा और समान शक्ति के साथ इस पर आगे बढ़ेगा।’

मोदी-शाह जोड़ी ने एक और विवाद को किया खत्म, बोडोलैंड के उग्रवादी करेंगे सरेंडर

राज्य के शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने बोडो समझौते का जिक्र करते हुए कहा‚ ‘नेशनल ड़ेमोक्रेटिक फ्रंट आफ बोड़ोलैंड़ (NDFB) के सभी गुटों के साथ चर्चा के माध्यम से सोमवार को एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। केंद्र और राज्य सरकार बातचीत के माध्यम से क्षेत्र में शांति चाहते हैं।’ उन्होंने कहा‚ ‘इस संदर्भ में‚ मैं बरुआ और उनके वार्ता–विरोधी गुट से अनुरोध करना चाहूंगा कि वे एक सार्थक वार्ता में शामिल होने पर विचार करें। केंद्र और राज्य सरकार इस क्षेत्र में शांति चाहते हैं।’

यह भी पढ़ें