LAC पर जारी तनाव के बीच आया CDS जनरल बिपिन रावत का बड़ा बयान, कही ये बात

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) ने कहा है कि कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन ने यथास्थिति बदलने की कोशिश की है, लेकिन हमारे जवान सीमा की सुरक्षा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

Bipin Rawat

सीडीएस रावत (CDS General Bipin Rawat) ने कहा, कोरोना वायरस महामारी के बीच चीन ने उत्तरी सीमा के साथ एलएसी पर यथास्थिति बदलने का प्रयास किया है।

LAC पर चीन के साथ जारी तनाव के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) ने कहा है कि कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन ने यथास्थिति बदलने की कोशिश की है, लेकिन हमारे जवान सीमा की सुरक्षा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

उन्होंने कहा, अब समय आ गया है कि हम अपने सिस्टम में युद्ध की तकनीक का भविष्य देखें। हमारे पास उत्तरी सीमाओं पर किसी भी खतरे या चुनौतियों का सामना करने के लिए पर्याप्त बल है। युद्ध तकनीक से सीडीएस का इशारा आधुनिक हथियारों की तरफ था। 

घाटी में अशांति फैलाने के लिए नई साजिश रच रहा पाकिस्तान, इस पुराने रूट को कर रहा चालू

सीडीएस रावत (CDS General Bipin Rawat) ने कहा, कोरोना वायरस महामारी के बीच चीन ने उत्तरी सीमा के साथ एलएसी पर यथास्थिति बदलने का प्रयास किया है। इसके मद्देनजर हमें जमीन, समुद्र और हवा में अधिक तैयारियों की जरूरत है। उन्होंने कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि भारतीय सशस्त्र बल हमारी सीमाओं की सुरक्षा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे, फिर वो चाहे जमीन, हवा और समुद्र ही क्यों ना हो। 

सीडीएस ने कहा, हम लद्दाख में एक गतिरोध की स्थिति में हैं और इसके आधार पर कुछ विकास गतिविधियां हैं, जो तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में चल रही है। हर देश अपनी सुरक्षा के लिए अपने हित के आधार पर तैयारी करना जारी रखेगा। मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम किसी भी घटना से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। 

ये भी देखें- 

जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) से जब पाकिस्तान द्वारा लगातार किए जाने वाले सीजफायर को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, दूसरे पक्ष को अधिक चिंतित होना चाहिए। हम पूरी तरह से तैयार हैं और किसी भी विपरीत परिस्थिति का सामना कर सकते हैं। 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें