Breaking News: झारखंड के चाईबासा में मुठभेड़, जान बचाकर भागे नक्सली

Breaking News: झारखंड (Jharkhand) के चाईबासा में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ (Encounter) हो गई। जिसके बाद जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली (Naxali) जान बचाकर भाग खड़े हुए।

Naxali

झारखंड के चाईबासा में नक्सली मुठभेड़। (सांकेतिक तस्वीर)

Breaking News: झारखंड (Jharkhand) के चाईबासा में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ (Encounter) हो गई। जिसके बाद जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली (Naxali) जान बचाकर भाग खड़े हुए। जानकारी के मुताबिक, किसी अप्रिय घटना को अंजाम देने के लिए चाईबासा जिले के बंदगांव जंगलों में भाकपा माओवादियों की मीटिंग चल रही थी। पुलिस (Police) को इसकी सूचना मिल गई।

फिर क्या था, भनक लगते ही सीआरपीएफ (CRPF) की 60वीं बटालियन और जिला पुलिस बल के जवानों ने संयुक्त मोर्चा संभालते हुए जंगलो में सर्च अभियान शुरू कर दिया। पुलिस और सुरक्षाबलों द्वारा चारों तरफ से खुद को घिरता देख नक्सली (Naxali) घबरा गए। जवानों से बचने और वहां से भागने के लिए नक्सलियों (Naxals) ने गोलीबारी शुरू कर दी।

बीजापुर नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुआ झारखंड का जवान, 3 साल के बेटे को है पिता का इंतजार

जवाबी करवाई करते हुए सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग की। इस दौरान, जवानों को भरी पड़ता देख नक्सली (Naxali) दुम दबाकर भाग निकले। इस मुठभेड़ में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। इसके बाद से सुरक्षाबलों ने सर्च अभियान और तेज कर दिया है। घने जंगलो के भीतर सर्चिंग में पुलिस ने नक्सलियों (Naxalites) का सामान भी बरामद किया है।

बताया जा रहा है कि जंगल में पीएलएफआइ (PLFI) कमांडर जीदन गुड़िया के दस्ते के साथ सुरक्षाबलों की यह मुठभेड़ हुई है। गौरतलब है कि नक्सली (Naxali) जीदन के खिलाफ राज्य के विभिन्न जिलों में 100 से अधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस को लंबे समय से जीदन की तलाश है, लेकिन वह पुलिस से बचता फिर रहा है। जीदन के खिलाफ हत्या, रंगदारी, अपहरण, पुलिस बल पर हमले आदि जैसे कई संगीन अपराध दर्ज हैं।

बता दें कि राज्य में नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का अभियान लगातार चल रहा है। यही वजह हे कि ये बौखलाए हुए हैं। इसी बौखलाहट में आकर ये आए दिन कोई न कोई कायराना हरकत करते रहते हैं। हालांकि, सुरक्षाबल पूरी तरह मुस्तैद हैं। नक्सलियों (Naxals) की हर नापाक हरकत का माकूल जवाब दिया जा रहा।

यह भी पढ़ें