Jharkhand: सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के मंसूबों पर फेरा पानी, हथियार छोड़ भागे नक्सली

नक्सल प्रभावित झारखंड (Jharkhand) के चतरा जोरी थाना क्षेत्र के गोवे जंगल में 2 अक्टूबर को नक्सलियों एवं पुलिस में मुठभेड़ हुई। जिसमें चतरा पुलिस ने नक्सलियों के बड़े नापाक मंसूबे को विफल कर दिया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, नक्सलियों ने पुलिस पर हमला करने के लिए आठ पाइप आईडी बम लगा रखा था। जिसके बारे में समय रहते पुलिस को पता चल गया।

Chatra Encounter, Jharkhand Naxal, Jharkhand Police

जानकारी के मुताबिक, गौतम, इंदल और आलोक जैसे नक्सलियों की टीम का जमावड़ा लगा हुआ था। हालांकि, मुठभेड़ के बाद नक्सली भाग खड़े हुए। अभी तक Jharkhand की चतरा पुलिस, सीआरपीएफ और एसटीएफ के जवान जंगलों में तलाशी कर रहे हैं। काफी देर तक जंगलों से रुक-रुक गोलियां चलने की आवाज आती रही। मुठभेड़ में सैकड़ों राउंड गोलियां चलने की आशंका है। पुलिस ने इस मुठभेड़ की पुष्टि की है। राज्य में पुलिस लगातार नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रही है।

इससे पहले, Jharkhand के लोहरदगा जिले के कुडू थाना पुलिस ने हार्डकोर पीएलएफआइ (PLFI) नक्सली को गिरफ्तार किया। नक्सली के पास से एक देसी कट्टा, कारतूस और मोबाइल फोन बरामद किया गया है। बताया जाता है कि एसपी प्रियदर्शी आलोक को गुप्त सूचना मिली थी कि एक नक्सली देसी कट्टा लेकर कुडू थाना क्षेत्र के कोकर चौक में किसी अप्रिय घटना को अंजाम देने की फिराक में है।इसके बाद एसपी ने तत्काल कुडू थाना प्रभारी अनिल कुमार तिवारी के नेतृत्व में टीम गठित कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

कुडू थाना पुलिस ने कुडू-रांची मुख्य पथ में एनएच 75 में कोकर चौक के समीप छापेमारी कर एक नक्सली को गिरफ्तार किया।नक्सली की तलाशी लेने पर उसके पास से एक देशी कट्टा, एक कारतूस और एक मोबाइल फोन बरामद किया गया। गिरफ्तार नक्सली की पहचान कैरो थाना क्षेत्र के हनहट गांव निवासी दीपक ठाकुर के रूप में हुई है। थाना प्रभारी अनिल कुमार तिवारी के मुताबिक, दीपक ठाकुर पीएलएफआइ का हार्डकोर नक्सली था। वह पीएलएफआइ के एरिया कमांडर कृष्णा यादव के साथ काम करता था।

पढ़ें: जम्मू-कश्मीर पर भारत को मिला सऊदी अरब का साथ, पाकिस्तान को एक और झटका

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here