Bijapur Sukma Encounter: बंधक बनाए गए कोबरा कमांडो को नक्सलियों ने किया रिहा, पांच दिन से थे किडनैप

Bijapur Encounter: रिहाई के बाद राकेश्वर सिंह का मेडिकल चेकअप किया गया। उन्हें रिहाई मिलने के बाद तर्रेम में 168वीं बटालियन के कैंप में ले जाया गया।

CRPF Jawan

राकेश्वर सिंह मनहास

Bijapur Sukma Encounter: रिहाई के बाद CRPF जवान (CRPF Jawan) राकेश्वर सिंह मनहास का मेडिकल चेकअप हो रहा है। बताया जा रहा है कि उन्हें रिहाई मिलने के बाद तर्रेम में 168वीं बटालियन के कैंप में ले जाया गया। 

बीजापुर नक्सली हमले में किडनैप किए गए कोबरा जवान (CRPF Jawan) राकेश्वर सिंह मनहास को 8 अप्रैल को रिहा कर दिया गया है। बीजापुर में सुरक्षाबल और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद मनहास को किडनैप कर लिया गया था।

ये मुठभेड़ 3 अप्रैल को जोनागुड़ा में हुई थी। पांच दिन के अंतराल के बाद उन्हें रिहा किया गया है। जानकारी के मुताबिक कमांडो के दोपहर बाद करीब 4 बजे नक्सलियों ने छोड़ दिया।

QUAD देशों के बीच हिंद महासागर में चल रहे सैन्‍य अभ्‍यास से चीन को क्यों लग रही मिर्ची? जानें पूरा मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हजारों आदिवासियों, गोंडवाना समाज के अध्यक्ष तेलम बोरैया और सामाजिक कार्यकर्ता पद्मश्री धर्मपाल सैनी की मौजूदगी में जवान को रिहा किया गया है।

नक्सलियों से बात करने के लिए पद्मश्री धरमपाल सैनी और तेलम बोरैया को भेजा गया था। नक्सलियों की ओर से मध्यस्थता के लिए सरकार द्वारा नाम मांगे गए थे। बताया जा रहा है कि रिहाई के वक्त बस्तर के 7 पत्रकारों की टीम भी मौजूद रही।

पांच दिवसीय दौरे पर बांग्लादेश पहुंचे आर्मी चीफ एमएम नरवणे, देखें PHOTOS

रिहाई के बाद राकेश्वर सिंह मनहास का मेडिकल चेकअप किया गया है। बताया जा रहा है कि उन्हें रिहाई मिलने के बाद तर्रेम में 168वीं बटालियन के कैंप में ले जाया गया। वहीं राकेश्वर सिंह की रिहाई पर जम्मी में रह रहे उनके परिवार ने खुशी जाहिर की है।

ये भी देखें-

हालांकि, रिहाई किस आधार पर की गई है इस बात का खुलासा नहीं हो सका है। यानी जवान (CRPF Jawan) की रिहाई के बदले सरकार ने नक्सलियों की कोई मांग पूरी की है या नहीं, इसपर अभी असंजमस की स्थिति है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

यह भी पढ़ें