Bihar: पालीगंज अनुमंडल से नक्सली गिरफ्तार, रची थी हत्या की साजिश

बिहार (Bihar) के पालीगंज अनुमंडल के खिरीमोड़ से पुलिस ने नक्सली सतीश महतो के साथ तीन शार्प शूटर और दो लाइनर को गिरफ्तार किया है। इनके पास से तीन पिस्टल, 11 जिंदा कारतूस और एक बाइक भी बरामद हुई है।

Bihar
सांकेतिक तस्वीर

17 अक्टूबर को एसएसपी गरिमा मलिक को रांची से किसी ने फोन पर सूचना दी कि खिरीमोड़ में किसी की हत्या होने वाली है और इसमें एक नक्सली शामिल है। किसकी हत्या होने वाली है, कौन नक्सली और कहां वारदात को अंजाम देना है इसकी सूचना पुलिस को नहीं मिली थी। एसएसपी ने पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय को टास्क सौंपा। डीएसपी के नेतृत्व में खिरीमोड़, बिक्रम और दुल्हिन बाजार थाने की पुलिस के साथ तकनीकी सेल की एक टीम बनाई गई। पुलिस ने करीब 2 घंटे तक वारंटी से लेकर पालीगंज में पूर्व में सक्रिय नक्सली से लेकर जेल से बाहर आए बदमाशों का मोबाइल नंबर सर्च किया। सूचना पुख्ता होने का साक्ष्य पुलिस को मिल गया।

इस दौरान दो संदिग्धों का मोबाइल नंबर पुलिस ने ट्रेस करना शुरू किया और लोकेशन खिरीमोड़ के परशुराम उच्च विद्यालय के दक्षिण स्थित बगीचे में लोआई नदी किनारे मिला। पुलिस ने घेराबंदी कर सुजीत कुमार, अमित कुमार और प्रफुल्ल कुमार को दबोच लिया। इनके पास से तीन पिस्टल बरामद हुए। तीनों को खिरीमोड़ थाने पर लाकर पूछताछ की गई, तब पता चला कि इन्हें पूर्व नक्सली कमांडर और 50 हजार रुपए के ईनामी रह चुके सतीश महतो ने हायर किया था। जो गुरुवार की शाम ढलते ही खिरीमोड़ स्थित एक होटल में नवीन यादव की हत्या करने की फिराक में था। इनके पास से पुलिस ने जो बाइक बरामद की है, वह कुछ दिन पूर्व ही अरवल से लूटी गई थी।

पढ़ें: Indian Army को पहली बार भेजी गई देश में बनी बुलेटप्रूफ जैकेट

तीनों शूटरों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उनका मोबाइल जब्त कर लिया। डीएसपी ने बताया कि उनके मोबाइल पर आए एसएमएस में नवीन यादव के हर मूवमेंट की जानकारी मिल रही थी। पुलिस तीनों की निशानदेही पर साजिशकर्ता सतीश महतो, लाइनर अनिल यादव और विद्यानंद को अलग-अलग स्थानों से दबोच लिया। अनिल ही शूटरों को सारी जानकारी दे रहा था। पुलिस की मानें तो पिछले साल छठ पूजा के दौरान रालोसपा प्रखंड नेता अमित भूषण की हत्या हो गई थी। इस हत्या का आरोप अनिल शर्मा के ऊपर लगा था।

पुलिस के मुताबिक, नवीन भी आपराधिक प्रवृति का है। आरोप है कि अमित भूषण की हत्या का बदला लेने के लिए नवीन ने इसी साल मई में भोजपुर के सहार थाना क्षेत्र में अनिल शर्मा की हत्या करा दी। इस बात की खबर नक्सली सतीश महतो को हुई। अनिल और सतीश की दोस्ती करीब 50 साल पुरानी थी। दोस्त की हत्या का बदला लेने के लिए सतीश पिछले चार महीने से परेशान था। छह दिन पहले उसने अरवल से तीन शूटरों को हायर किया और फिर नवीन यादव की हत्या की साजिश रची थी।

पढ़ें: नक्सल प्रभावित इलाके के बच्चों का भविष्य संवार रहा बीएसपी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here