बिहार: मुजफ्फपुर से धरे गए 2 नक्सली, कई संगीन मामलों में थे वांछित

इसी दस्ते ने 2014 में बोचहां स्थित भाजपा के जिलाध्यक्ष और पूर्व विधायक रामसूरत राय के पेट्रोल पंप पर हमला किया था और पेट्रोल पंप पर आगजनी की थी। मुजफ्फरपुर- सीतामढ़ी रेलवे ट्रैक को 26-27 मार्च, 2014 की रात विस्फोट कर उड़ाने में भी इन दोनों की संलिप्तता थी।

naxal, bihar, Muzaffarpur, two hardcore naxalites arrested, two hardcore naxalites arrested in Muzaffarpur, naxalism, naxalite in Bihar, naxalism problem in Bihar, sirf sach, sirfsach.in, मुजफ्फरपुर, दो हार्डकोर नक्सली गिरफ्तार, मुजफ्फरपुर में दो हार्डकोर नक्सली गिरफ्तार, नक्सलवाद,बिहार में नक्सल, बिहार में नक्सलवाद की समस्या, सिर्फ सच

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में पुलिस ने दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया।

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में पुलिस ने दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया। जिले के बोचहां थाना क्षेत्र के चौमुख गांव से एसएसबी और पुलिस की टीम ने 16 अगस्त की देर रात हार्डकोर नक्सली चंदन पासवान और इंदल पासवान को गिरफ्तार कर लिया। ये दोनों भाई हैं और कई नक्सली वारदात में शामिल थे। जानकारी के मुताबिक, दोनों की गिरफ्तारी खुफिया विभाग से मिले इनपुट के आधार पर की गई। एसएसबी और पुलिस की टीम ने दोनों से पूछताछ की। बोचहां थाना पुलिस ने उसे जिला जज के विशेष कोर्ट में पेश किया जहां से दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। गिरफ्तार नक्सली चंदन और इंदल नक्सली ऑपरेशन वाले दस्ते में शामिल थे।

इसी दस्ते ने 2014 में बोचहां स्थित भाजपा के जिलाध्यक्ष और पूर्व विधायक रामसूरत राय के पेट्रोल पंप पर हमला किया था और पेट्रोल पंप पर आगजनी की थी। मुजफ्फरपुर- सीतामढ़ी रेलवे ट्रैक को 26-27 मार्च, 2014 की रात विस्फोट कर उड़ाने में भी इन दोनों की संलिप्तता थी। बोचहां के बुधौली में निर्माण कंपनी के कैंप पर किए गए हमले में भी दोनों की भूमिका रही है। इस हमले को लेकर वैशाली के भगवानपुर थाना क्षेत्र के बड़ारूप निवासी निर्माण कंपनी के मुंशी राकेश कुमार ने बोचहां थाने में 15-20 अज्ञात नक्सलियों पर केस दर्ज कराया था।

मामला यह था कि 2014 में मुख्यमंत्री सड़क निर्माण योजना के तहत बोचहां के बुधौली में सड़क बनाई जा रही थी। यह निर्माण कार्य ठेकेदार दिनेश पांडेय करा रहा था। नक्सलियों ने ठेकेदार से लेवी की मांगी थी। मांग पूरी नहीं की जाने पर 26 जून, 2014 को बुधौली के मध्य विद्यालय परिसर स्थित निर्माण कंपनी के बेस कैंप पर हमला कर दिया। नक्सलियों ने हत्या की नीयत से मुंशी पर फायरिंग की जिससे मुंशी गंभीर स्थिति रूप से घायल हो गया। उसे एसकेएमसीएच भर्ती कराया गया। मजदूरों के साथ मारपीट की गई। नक्सलियों ने जेसीबी व अन्य उपकरणों में आग लगा दी। जिला जज के विशेष कोर्ट में इस मामले से संबंधित रिपोर्ट पुलिस ने सौंपी। काफी समय से ये दोनों फरार चल रहे थे।

पढ़ें: ट्रंप से मोदी के बात करने के बाद इमरान ने भी किया फोन, तनाव कम करने पर हुई बातचीत

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App