बिहार: जमुई से 7 नक्सली गिरफ्तार, बना रहे थे बड़ी वारदात को अंजाम देने का प्लान

बिहार के जमुई जिले के झाझा थाने के अस्ता जंगलों में अपहरण और बड़े धमाके की योजना बना रहे सात नक्सलियों (Naxals) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सभी नक्सली हार्डकोर नक्सली सिद्धू कोड़ा दस्ते के बताए जा रहे हैं। यह भी बताया जा रहा है कि ये सभी नक्सली झाझा के गेनसाडीह में निर्माणाधीन आदिवासी छात्रावास के मुंशी और मजदूर का अपहरण करने तथा बड़ा धमाका करने की योजना बना रहे थे। इसकी सूचना पर पुलिस ने कार्रवाई की।

Naxals
जमुई से गिरफ्तार नक्सली।

झाझा एसडीपीओ भास्कर रंजन के अनुसार, कई दिनों से सूचना मिल रही थी कि नक्सलियों (Naxals) द्वारा जमुई जिले में कोई बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बनाई जा रही है। इसके बाद एसपी के नेतृत्व में नक्सल ऑपरेशन सेल ने नक्सलियों की जानकारी एकत्रित की, जिसमें यह पता चला कि नक्सली झाझा थाने के गेनसाडीह में केंद्र सरकार की योजना के तहत बन रहे एकलव्य हरिजन आदिवासी विद्यालय के छात्रावास के निर्माण कार्य में लगे मुंशी और मजदूरों का अपहरण कर पांच करोड़ रुपये लेवी वसूलने तथा दहशत फैलाने के उद्देश्य से एक बड़े धमाके की योजना बना रहे हैं।

इसके बाद अपर पुलिस अधीक्षक अभियान, जमुई तथा झाझा एसडीपीओ, एसएसबी, एसटीएफ और जिला पुलिस के नेतृत्व में 5 दिसंबर की देर रात थाने के रजला-अस्ता-गेनाडीह के जंगली और पहाड़ी इलाकों में सर्च अभियान चलाया गया। इस क्रम में अस्ता गांव के समीप जंगली इलाकों में 20-25 की संख्या में नक्सली दस्ता के इकट्ठा होने की सूचना मिली। इसके बाद घेराबंदी कर अभियान चलाया गया। इस दौरान पुलिस ने सात नक्सलियों (Naxals) को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) के पास से बड़ी मात्रा में हथियार, कारतूस और विस्फोटक बरामद किया। गिरफ्तार नक्सलियों में जत्री मरांडी, मंटू मुर्मू, किशन मुर्मू, रमेश हेंब्रम उर्फ कैला हेंब्रम, रामू सोरेन, सुनील हेंब्रम और अनुस हेंब्रम, शामिल हैं। पुलिस ने नक्सलियों (Naxals) के पास से दो मास्केट, दो देसी पिस्तौल, छह कारतूस, एक जिलेटिन,एक डेटोनेटर, दो केन, करीब 100 मीटर तार, दो मोबाइल, पांच पिट्ठू बैग, नक्सली पर्चे और कुछ खाने की चीजें बरामद किया।

पढ़ें: गया से पूर्व एमएलसी का घर उड़ाने वाला नक्सली धराया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here