बिहार: औरंगाबाद से तीन नक्सली गिरफ्तार, हत्या समेत कई संगीन वारदातों में थे शामिल

बिहार (Bihar) के औरंगाबाद में एसएसबी (SSB) एवं पुलिस (Police) ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कामयाबी हासिल की है। औरंगाबाद में एसएसबी एवं गोह पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान चलाकर तीन हार्डकोर नक्सलियों को गिरफ्तार किया है।

Naxalites

औरंगाबाद से गिरफ्तार नक्सली।

बिहार (Bihar) के औरंगाबाद में एसएसबी (SSB) एवं पुलिस (Police) ने नक्सलियों (Naxalites) के खिलाफ कामयाबी हासिल की है। औरंगाबाद में एसएसबी एवं गोह पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान चलाकर तीन हार्डकोर नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। तीनों नक्सलियों को अलग-अलग जगहों से पकड़ा गया है। गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) में गया जिले के सिघडा के रहने वाले राजू सिंह को गोह थाना के दुल्ला बिगहा से, हसपुरा थाना के डिडिर गांव से गोरख राम और इसी थाना क्षेत्र के चनहट गांव से विजय पासवान को गिरफ्तार किया गया है।

इन तीनों ने कई नक्सली घटनाओं को अंजाम दिया है। सशस्त्र सीमा बल (SSB) के 29वीं बटालियन के कमांडेंट राजेश कुमार सिंह के निर्देश पर सी कंपनी कोच के कमांडेंट इंस्पेक्टर लोकेश कुमार के नेतृत्व में एसएसबी जवानों और गोह पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाया गया। तीनों नक्सली (Naxali)  जिले में धमकी दे कर लेवी वसूलती का काम करते थे।

पुण्यतिथि विशेष: बतौर पीएम संडे को भी ऑफिस में काम करते थे जवाहर लाल नेहरू

पुलिस प्रशासन को तीनों नक्सलियों की काफी दिनों से तलाश थी। पूछताछ के दौरान तीनों नक्सलियों ने कई नक्सली वारदैतों में अपनी संलिप्तता भी स्वीकार की है। ये सभी नक्सली (Naxalites) पहले भी कई बार जेल जा चुके हैं। एसएसबी के जवानों ने तीनों नक्सलियों को 26 मई को गोह थाना के सुपुर्द कर दिया।

बता दें कि अकुंरी गांव के पास एक करोड़ 20 लाख रुपये की लागत से पुल का निर्माण कार्य चल रहा था। निर्माण कार्य में लगे लेबर कांट्रैक्टर कटिहार जिले के आजमाना थाना के नारायणपुर गांव निवासी शिवनारायण यादव की 17 फरवरी को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। लेबर कांट्रैक्टर की हत्या का आरोप इन्हीं तीनों नक्सलियों पर था। पुल का निर्माण कार्य संवेदक शमशेर नगर के बब्लू शर्मा द्वारा कराया जा रहा था। थानाध्यक्ष मनोज कुमार के मुताबिक,  गिरफ्तार नक्सलियों (Naxalites) को कानूनी प्रक्रिया के बाद जेल भेजा जाएगा।