बिहार: बड़ी वारदात को अंजाम देने की कर रहे थे प्लानिंग, औरंगाबाद से PLFI के 4 नक्सली धराए

गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) में बारुण थाना के टेंगरा गांव निवासी पप्पू शर्मा, मुफस्सिल थाना के मुंशी बिगहा गांव का रहने वाला सुनील चंद्रवंशी, बदल बिगहा गांव के दशरथ यादव और शिवगंज निवासी राजू साव शामिल हैं।

Naxals

बिहार के नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले में पुलिस को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली है।

बिहार के नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले में पुलिस को नक्सलियों (Naxals) के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली है। जिले के मदनपुर थाना क्षेत्र के बदल बिगहा गांव में पुलिस ने 19 जनवरी की शाम छापेमारी कर पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (PLFI) के चार नक्सलियों को गिरफ्तार कर लिया।

Naxals
औरंगाबाद से PLFI के नक्सली गिरफ्तार।

गिरफ्तार नक्सलियों (Naxals) में बारुण थाना के टेंगरा गांव निवासी पप्पू शर्मा, मुफस्सिल थाना के मुंशी बिगहा गांव का रहने वाला सुनील चंद्रवंशी, बदल बिगहा गांव के दशरथ यादव और शिवगंज निवासी राजू साव शामिल हैं। पुलिस ने दशरथ के घर से एक देशी पिस्टल, तीन कारतूस, लेवी रसीद और नक्सली पर्चा भी बरामद किया। एसपी दीपक वर्णवाल के अनुसार, गिरफ्तार सभी नक्सली (Naxals) दशरथ के घर पर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहे थे। इसकी खुफिया सूचना पुलिस को मिल गई। इस सूचना के आधार पर एसडीपीओ अनूप कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी की गई, जिसमें पुलिस ने चारों को दबोच लिया।

गिरफ्तार नक्सली (Naxals) पहले भी हत्या, लूट समेत अन्य कई नक्सली घटनाओं में शामिल रहे हैं। इन गिरफ्तार नक्सलियों के तार शिवगंज निवासी ईंट भट्ठा मालिक मो. मुर्तुजा हत्याकांड से भी जुड़ा है। एसपी के मुताबिक, हत्याकांड में फरार चल रहे वीरेंद्र यादव के नेतृत्व में PLFI के ये सभी नक्सली इकट्ठे हुए थे। हत्याकांड में फरार चल रहे वीरेंद्र के अलावा अरुण सिंह की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। दोनों के घर कुर्की की कार्रवाई की गई है। सभी को 20 जनवरी को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। पुलिस के हत्थे चढ़ा नक्सली पप्पू शर्मा कई नक्सली वारदातों में शामिल रहा है। एसपी के अनुसार, उस पर लूट मामले में 14 नवंबर, 2014 को रिसियप थाने में, मुफस्सिल थाने में 9 अक्टूबर, 2014 को आ‌र्म्स एक्ट मामले में 1 मार्च, 2016 को बारुण थाने में और डकैती मामले में 21 सितंबर, 2017 को मदनपुर थाने में मामला दर्ज है।

पहले भी वह नक्सली मामलों में जेल जा चुका है। जमानत पर बाहर निकलने के बाद भी आपराधिक घटनाओं में शामिल रहा है। वहीं, गिरफ्तार नक्सली सुनील चंद्रवंशी शराब तस्करी और अन्य आपराधिक मामलों में शामिल रहा है। एसपी ने बताया कि रफीगंज थाने में 26 अप्रैल, 2016 को मामला दर्ज हुआ है। रफीगंज में आभूषण व्यवसायी की हत्या करने पहुंचे अपराधियों की गिरफ्तारी पुलिस द्वारा की गई थी। पर उस समय सुनील फरार हो गया था। एसपी के अनुसार, दशरथ भी लूटपाट के मामले में जेल जा चुका है। उसके खिलाफ मदनपुर थाने में मामला दर्ज है।

पढ़ें: पुलवामा में CRPF के बंकर पर आतंकियों ने फेंका पेट्रोल बम

यह भी पढ़ें