बिहार: औरंगाबाद में सुरक्षाबलों ने मार गिराए 4 नक्सली, AK 47 समेत 7 राइफल बरामद

नक्सलवाद के खिलाफ अभियान में बिहार पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। 25 जुलाई को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में जवानों ने चार नक्सलियों को मार गिराया।

Naxalite, naxal encounter in Bihar, Bihar encounter, Bihar police, CRPF, Bihar, four naxals killed, sirf sach, sirfsach.in

औरंगाबाद जिले के देव थाना क्षेत्र के सतनदिया नाला के समीप यह मुठभेड़ हुई, जिसमें चार नक्सली मारे गए

नक्सलवाद के खिलाफ अभियान में बिहार पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। 25 जुलाई को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में जवानों ने चार नक्सलियों को मार गिराया। जानकारी के मुताबिक, औरंगाबाद जिले के देव थाना क्षेत्र के सतनदिया नाला के समीप यह मुठभेड़ हुई, जिसमें चार नक्सली मारे गए। साथ ही घटनास्थल से एक एके 47 समेत सात राइफल्स बरामद की गई हैं। इलाके में सुरक्षाबलों का सर्च अभियान अभी जारी है। मिली जानकारी के अनुसार, सुरक्षाबलों को नक्सली कमांडर अभिजीत यादव के दस्ते के पहुंचने की खुफिया सूचना मिली थी।

इस सूचना के आधार पर कोबरा, सीआरपीएफ, एसटीएफ और अभियान दल की टीम सर्च ऑपरेशन चला रही थी। 25 जुलाई को सुरक्षाबलों की टीम सतनदिया नाला के पास पहुंची थी, जहां नक्सलियों ने उन पर हमला कर दिया। इसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई किया। दोनों ओर से गोलीबारी हुई। इस मुठभेड़ में तीन नक्सली मारे गए। पुलिस वालों को भारी पड़ता देख नक्सली भाग खड़े हुए। सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से सात राइफल, खाने-पीने की चीजों सहित भारी मात्रा में गोली और कई अन्य सामान बरामद किए हैं। मारे गए नक्सलियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। अभी शवों की पहचान की जा रही है।

पढ़ें: अर्बन नक्सल केस: हिज्बुल मुजाहिद्दीन के संपर्क में थे गौतम नवलखा, पुणे पुलिस का दावा

एएसपी अभियान राजेश कुमार सिंह के अनुसार, इलाके को सील कर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। फिलहाल मारे गए नक्सलियों की पहचान नहीं हो सकी है। इससे पहले लखीसराय जिले में पुलिस ने 18 जुलाई को कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया गया। पुलिस की कार्रवाई में नक्सली मनोज कोड़ा गिरफ्तार हुआ था। एएसपी अभियान पवन उपाध्याय के अनुसार, पुलिस ने सर्च ऑपरेशन में नक्सलियों के दैनिक उपयोग में लाये जाने वाले सामानों को बरामद किया। जिसमें चटाई 11 पीस, प्लास्टिक रस्सी 4 बंडल, झोला 50 पीस, कुछ बर्तन, मच्छरदानी 18 पीस आदि सामान बरामद किए गए। ये सभी सामान पीरी बाजार थाना क्षेत्र के केवरिया कोल से बरामद किए गए।

सावन में नक्सली किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के फिराक में थे। बरामद हुए सामानों में कांवड़ियों द्वारा पहने जाने वाले केसरिया कपड़े का थान भी था। जिससे यह बात साफ थी कि नक्सली कांवड़ियों के वेश में हमला करने की प्लानिंग कर रहे थे। गौरतलब है कि श्रावणी मेला शुरू होने से पहले ही बिहार और झारखंड पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया था। नक्सल प्रभावित जमुई जिले के बटिया और मुंगेर जिले के गंगटा जंगल के रास्ते काफी संख्या में बाहरी कांवड़ियों का सुल्तानगंज में आगमन होता है। अलर्ट के बाद अब यहां से बाबा मंदिर देवघर तक के रुट पर दोनों राज्यों की पुलिस पैनी नजर बनाए रखेगी। इस अलर्ट पर अब दोनों राज्यों की पुलिस अलग-अलग तरह से काम कर रही है।

पढ़ें: बटला हाउस एनकाउंटर के शहीद मोहन चंद्र शर्मा, जिन्होंने अपने औलाद से पहले देश को रखा

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App