अयोध्या को Lock करने की तैयारी, राम मंदिर भूमि पूजन से पहले सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, एंट्री पर पाबंदी

पुलिस प्रशासन और सुरक्षा एजेंसियां शहर के हर होटल, धर्मशाला और सार्वजनिक स्थानों पर गोपनीय तरीके से जांच कर रही हैं। 3 अगस्त से किसी भी बाहरी श्रद्धालु, व्यक्ति, समूह या फिर आमजन को अयोध्या में एंट्री की इजाज़त नहीं दी जाएगी।

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan

राम मंदिर भूमि पूजन के मद्देनजर अयोध्या में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था।

5 अगस्त को होने वाले श्रीराम जन्मभूमि पर भूमिपूजन के मद्देनजर अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद। 3 अगस्त से किसी भी बाहरी श्रद्धालु, व्यक्ति, समूह या फिर आमजन को अयोध्या में एंट्री की इजाज़त नहीं दी जाएगी।

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भूमिपूजन (Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan) और प्रधानमंत्री मोदी के आगमन के लिए सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए जा रहे हैं। 5 अगस्त को अयोध्या में भूमिपूजन (Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan) कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 200 लोग शामिल होंगे। इसे देखते हुए पुलिस प्रशासन बेहद सतर्क है। अयोध्या में एंट्री करने वाले हर व्यक्ति की जांच की जा रही है। वहीं 3 अगस्त से बाहरी व्यक्तियों के अयोध्या में एंट्री करने पर रोक लगा दी गई है।

अयोध्या में प्रधानमंत्री समेत कई बड़ी हस्तियों को आना है। इसको लेकर पुलिस प्रशासन की तरफ़ से बेहद सख्त सुरक्षा खाका तैयार किया जा रहा है। शहर में सिर्फ वैलिड आईडी कार्ड वालों को ही एंट्री करने की इजाज़त दी जा रही है। पुलिस प्रशासन और सुरक्षा एजेंसियां शहर के हर होटल, धर्मशाला और सार्वजनिक स्थानों पर गोपनीय तरीके से जांच कर रही हैं। कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) को भी ध्यान रखते हुए श्रीराम जन्मभूमि (Ayodhya Ram Mandir) पर काम करने वाले हर व्यक्ति की कोरोना जांच हुई है। 3 अगस्त से किसी भी बाहरी श्रद्धालु, व्यक्ति, समूह या फिर आमजन को अयोध्या में एंट्री की इजाज़त नहीं दी जाएगी।

ये भी पढ़ें- राम जन्मभूमि: अयोध्या में पूजन से पहले कोरोना का कहर, एक पुजारी समेत 16 पुलिसकर्मी संक्रमित

अयोध्या में अभी से सुरक्षाबल पूरी तरह मुस्तैद हैं। जगह-जगह पर बैरियर लगाए गए हैं। वाहनों की चेकिंग की जा रही है। बिना आईडी कार्ड वाले व्यक्ति को अयोध्या में प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। रोडवेज बसों से आ रहे व्यक्तियों की भी पहचान सुनिश्चित की जा रही है। अयोध्या के सभी बॉर्डर पर बैरियर के साथ पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ कर जानकारी जुटा रही है।

ये भी पढ़ें- गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों को दिया जाएगा सम्मान, यहां अंकित होगा नाम