गिरफ्तार नक्सली ने उगले कई राज, चुनाव के दौरान हमले की थी साजिश

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच 24 अप्रैल को मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ के बाद एक नक्सली को गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार नक्सली की पहचान अर्जुन उर्फ पायकु बताई जा रही है। उसपर प्रशासन की तरफ से तीन लाख का ईनाम था।

naxal arrested, chhattisgarh naxals, chhattisgarh, gariaband, lok sabha elections 2019, sirf sach, sirfsach.in

सांकेतिक तस्वीर

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच 24 अप्रैल को मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ के बाद एक नक्सली को गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार नक्सली की पहचान अर्जुन उर्फ पायकु बताई जा रही है। उस पर प्रशासन की तरफ से तीन लाख का इनाम था। नक्सली अर्जुन बीजापुर का रहने वाला है और मैनपुर-नुआपाडा डिविजन का डिप्टी कमांडर बताया जा रहा है। अर्जुन नक्सलियों की टेक्निकल टीम का हिस्सा था और कई नक्सल वारदातों में शामिल रहा है। इसका खुलासा पुलिस की पूछताछ में हुआ। गिरफ्तार नक्सली ने कई अहम जानकारियां दी हैं जिन पर पुलिस जांच कर रही है। अर्जुन लम्बे समय से क्षेत्र में सक्रिय था।

वह किसी घटना को अंजाम देने की फ़िराक़ में था और चुनाव में बाधा डालने की कोशिश में लगा था। उसने यह भी बताया कि पुलिस मुठभेड़ में बीस नक्सली शामिल थे। प्रशासन अर्जुन की गिरफ़्तारी को एक बड़ी कामयाबी के रूप में देख रही है। दरअसल, 24 अप्रैल को देर रात नक्सलियों ने रायपुर-देवभोग नेशनल हाईवे के किनारे तौरेंगा-कोदोमाली के पास बैनर पोस्टर लगाया था। साथ ही एक एंबुस भी बनाया था ताकि वे पुलिस की आंखों में धूल झोंक सकें। लेकिन पुलिस ने इन नक्सलियों के इरादों पर पानी फेर दिया। मुठभेड़ के बाद नक्सली वहां से भाग खड़े हुए। उनमें से एक नक्सली को पुलिस ने वहां गिरफ्तार कर लिया था, जिसकी पहचान अर्जुन के रूप में हुई है।

यह भी पढ़ें: Srinivas Ramanujan Death Anniversary: मद्रास यूनिवर्सिटी ने किया रिजेक्ट तो कैम्ब्रिज ने भेजा न्योता

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App