सेना के जवान के अपहरण की खबर बेबुनियाद, रक्षा मंत्रालय ने किया खंडन

कश्मीर के बडगाम में सेना के जवान को आतंकियों द्वारा अगवा किए जाने की अफ़वाह फैल रही थी। जिसको रक्षा मंत्रालय ने खारिज किया है।

army man, kidnapping, fake news, indian army

कश्मीर के बडगाम में सेना के जवान को आतंकियों द्वारा अगवा किए जाने की अफ़वाह फैल रही थी। जिसको रक्षा मंत्रालय ने खारिज किया है।

कश्मीर के बडगाम में सेना के जवान को आतंकियों द्वारा अगवा किए जाने की अफ़वाह फैल रही थी। जिसको रक्षा मंत्रालय ने खारिज किया है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि जवान छुट्टी पर चल रहे हैं, वे अपने घर हैं। इनके अपहरण की खबर बेबुनियाद है और वह पूरी तरह से सुरक्षित हैं। रक्षा मंत्रालय ने अफ़वाहों से सावधान रहने को कहा है। पहले भी यासीन भट नाम के इस जवान के अगवा होने की खबर आई थी।

रक्षा विभाग के प्रवक्ता ने अपहरण के नाम पर चल रही इस झूठी खबर पर ट्वीट करते हुए कहा, ‘बडगाम के चाडूपोरा इलाके के काजीपोरा से छुट्टी पर गए सेना के जवान के अगवा होने की मीडिया रिपोर्ट गलत है। जवान पूरी तरह से सुरक्षित है। इस संबंध में अफवाहों से कृपया बचें।’ मीडिया के हवाले से कुछ जगह खबर चल रही है कि सेना के जवान यासीन भट को अज्ञात बंदूकधारियों ने उसके घर से अगवा कर लिया। जोकि पूरी तरह से बेबुनियाद है।

कश्मीर में इससे पहले जवानों को अगवा करने की घटनाएं हो चुकी हैं। अगवा करके कई जवानों को शहीद भी कर दिया गया। लगभग दो साल पहले आतंकियों ने लेफ्टिनेंट उमर फैयाज और पिछले साल सिपाही औरंगजेब की अगवा कर हत्‍या कर दी थी। ये दोनों जवान अपने घर छुट्टियाँ मनाने गए थे। कुलगाम के रहने वाले उमर फैयाज को शोपियां से अगवा किया गया जबकि पुंछ के रहने वाले औरंगजेब को पुलवामा से किडनैप किया गया था। बहरहाल यासीन भट नाम का जवान पूरी तरह सुरक्षित है। इनके अगवा होने की खबर पूरी तरह से बेबुनियाद है। अफ़वाहों से बचें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App