सेना प्रमुख ने नियंत्रण रेखा पर लिया हालात का जायजा, सेना की तैयारियों की समीक्षा की

अगामी पांच मार्च को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) घाटी व नियंत्रण रेखा पर हालात का जायजा एवं समीक्षा करने यहां आ रहे हैं।

Rajnath Singh

जिस प्रकार नियंत्रण रेखा (LoC) पर पाकिस्तान (Pakistan) की दिशा से लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन तथा गोले दाग कर सरहद पर तनाव बना रखा है उससे भारतीय सेना (Indian Army) बेहद कड़ाई से पेश आ रही है। अगामी पांच मार्च को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) घाटी व नियंत्रण रेखा पर हालात का जायजा एवं समीक्षा करने यहां आ रहे हैं। रक्षा मंत्री की इस यात्रा से पहले भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General Manoj Mukund Naravane) घाटी पहुंचे। यहां उन्होंने घाटी तथा नियंत्रण रेखा (LoC) पर हालात का जायजा लेने के साथ विभिन्न आपरेशनों की तैयारियों की भी समीक्षा की।

Rajnath Singh
राजनाथ सिंह के कश्मीर दौरे से पहले भारतीय सेनाध्यक्ष ने सेना के विभिन्न आपरेशनों की तैयारियों की समीक्षा की।

सूत्रों का कहना है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पांच मार्च को अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान सेना के उधमपुर स्थित उत्तरी कमान मुख्यालय पर सैन्य कमांड़रों के साथ एलओसी पर बने हालात का जायजा लेंगे।

पढ़ें: ट्रंप के बयान से क्यों बेवजह खुश है पाकिस्तान?

जिस प्रकार पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) नियंत्रण रेखा पर राजौरी व पुंछ जिलों में भारतीय अग्रिम सुरक्षा चौकियों के साथ–साथ आवासीय बस्तियों को लगातार निशाना बना रही है। उस पर रक्षा मंत्रालय ने भी कड़ा संज्ञान लिया है।

सूत्रों के अनुसार उस दिन रक्षा मंत्री दिल्ली लौटने से पहले उत्तरी कमान के ध्रुव सभागार में एक्स–सर्विसमैनों को संबोधित करने के बाद पेंशन अदालत में भी भाग लेंगे। जम्मू कश्मीर के पुनर्गठन के बाद संघ शासित प्रदेश बनने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) का जम्मू कश्मीर का यह पहला दौरा होगा।

माना जा रहा है कि पाकिस्तान की दिशा से जिस प्रकार आतंकियों (Terrorists) की घुसपैठ को लेकर की जा रही गोलाबारी के कारण नियंत्रण रेखा (LoC) पर गहराते तनाव पर रक्षा मंत्री विषेश तौर पर सैन्य कमांड़रों से चर्चा करेंगें। 

यह भी पढ़ें